20.1 C
New Delhi
Thursday, February 29, 2024
-Advertisement-

मथुरा से सिवान पहुंचे प्रवासियों को अधिकारियों ने क्वारंटाइन सेंटर से भगाया

सीवानः जहां एक तरफ कोरोना संक्रमण के बीच प्रवासियों की वापसी को लेकर सरकार पूरी तरह अलर्ट मोड पर है, वहीं जीरादेई प्रखंड के BDO और CO पर इसे लेकर लापरवाही बरतने का मामला प्रकाश में आया है। आरोप है कि दोनों ने मिलकर चंदौली-गंगौली पंचायत में मथुरा से आए दो प्रवासी युवकों को क्वारंटाइन सेंटर से भगा दिया है। दोनों प्रवासियों में से एक जीरादेई प्रखंड के सांथू निवासी है जबकि एक झारखंड का रहने वाला है।

जानकारी के मुताबिक प्रखंड के चंदौली-गंगौली पंचायत अंतर्गत सांथू गांव में शनिवार को मथुरा से आए 2 युवकों को लेकर पूरे गांव में खलबली मच गई। इसकी सूचना BDO और CO को देते हुए ग्रामिणों ने दोनों को जीरादेई महेंद्र हाई स्कूल सह इंटर कॉलेज में बने क्वारेंटाइन सेंटर में भेज दिया। लेकिन BDO विनोद कुमार गोंड़ और CO अनुज कुमार ने नजरअंदाज करते हुए दोनों युवको को वहां से भगा दिया। दोनों युवक वापस फिर से गांव में लौट आए हैं।

गांव वालों की माने तो वापस आने के बाद जब गांव वालों ने इसके बारे में दोनों युवकों से पूछा तो  पता चला कि BDO  और CO ने उनकी बात को गंभीरता से नहीं लिया और वहां से भगा दिया। गांव वालो को कहना है कि जब BDO और CO को इसकी जानकारी दी गई तो अंचलाधिकारी ने कहा कि गाड़ी भेजते हैं, लेकिन पूरा एक दिन बीत गए पर ना तो कोई मेडिकल की टीम पहुची है और ना ही प्रशासन इसमे रुचि ले रही है।