प्रसूता की मौत के बाद नोखा PHC में परिजनों का हंगामा

रोहतासः अस्पताल में मरीज की मौत के बाद परिजनों का हंगामा कोई नई बात नहीं। ऐसा अक्सर होता जब मरीज के परिजन अपनों की मौत के बाद अपना आपा खो देते हैं और बगैर कुछ सोचे ठीकरा अस्पताल कर्मचारी और ड़ॉक्टर पर फोड़ देते हैं। मामला नोखा PHC का है। यहां एक प्रसूता की मौत के बाद उसके परिजनों ने सोमवार को अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा किया। परिजनों का आरोप था कि प्रसूता की मौत स्वभाविक नहीं बल्कि अस्पताल के कर्मचारियों की लापरवाही से हुई है।

बताते चले कि नोखा थाना क्षेत्र के सरियांव गांव की रहने वाली मंजु देवी का प्रसव रविवार की रात नोखा PHC में हुआ था। प्रसव के बाद उक्त महिला की हालत गंभीर होने लगी। कुछ देर तक डॉक्टरों ने स्थिति में सुधार का प्रयत्न किया, लेकिन सुधार नहीं होता देख उसे बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल सासाराम रेफर कर दिया।

Advertisement

रेफर किए जाने के बाद महिला के साथ आए एक परिजन अन्य परिजनों की तलाश में अस्पताल के बाहर निकल गए। कुछ देर तक परिजन के वापस आने का इंतजार करने के बाद अंत में डॉक्टर ने बिना वक्त गंवाए प्रसूता को आशा के साथ ही ऐंबुलेंस से सासाराम भेज दिया, लेकिन लालगंज के आस-पास रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

Advertisement

इधर मौत की ख़बर पाकर अस्पताल पहुंचे प्रसूता के परिजनों ने उसकी मौत का जिम्मेदार अस्पताल कर्मचारियों को ही मान लिया और जमकर अस्पताल में बवाल काटा। परिजनों का कहना था कि बिना किसी को बताए ही PHC से प्रसूता को सासाराम भेज दिया गया, जबकि अस्पताल कर्मचारियों का कहना है कि रेफर किए जाने के बाद कुछ देर तक परिजन का इंतजार किया गया पर कोई नहीं आया, ऐसे में मरीज की हालत को देखते हुए उसे आशा के साथ ही भेज दिया गया। बहरहाल बाद में पुलिस मौके पर पहुंचकर किसी तरह से परिजनों को समझाया और मामले को शांत कराया।

News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here