21.4 C
New Delhi
Tuesday, March 2, 2021

अनोखा होगा IPL-2020, अलग-अलग होटल में रुकेंगी सभी 8 टीमें

नई दिल्लीः UAE में कोरोना के बीच 19 सितंबर से 10 नवंबर तक आईपीएल होना है। इसको लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने स्टैंडर्ड ऑपरेंटिंग प्रोसिजर (एसओपी) यानि गाइडलाइंस जारी कर दी है। इसके मुताबिक, सभी 8 टीमों को अलग-अलग होटल में रुकना होगा। खिलाड़ी रूम से बाहर नहीं निकल सकेंगे। कमरे में सिर्फ रूम सर्विस को आने की मंजूरी होगी।

बायो-सिक्योर माहौल में होने वाले इस टूर्नामेंट में गाइडलाइंस के तहत सभी खिलाड़ी साथ बैठकर खाना नहीं खा सकेंगे। यदि किसी खिलाड़ी या स्टाफ ने बायो-सिक्योर नियम तोड़ा, तो सख्त सजा मिलेगी।

Advertisement

IPL से पहले भारतीय खिलाड़ियों के 5 टेस्ट होंगे

यूएई आने से पहले हर एक खिलाड़ी और स्टाफ का 5 बार कोरोना टेस्ट होगा। सभी खिलाड़ी दो टेस्ट अपने शहर में कराएंगे। निगेटिव रिपोर्ट के बाद टीम से जुड़ेंगे। यहां 14 दिन क्वारैंटाइन के दौरान 3 टेस्ट होंगे। इसके बाद यूएई जाने की अनुमति मिल सकेगी। विदेशी खिलाड़ियों को भी यूएई में आने से पहले 14 दिन क्वारैंटाइन में रहना होगा। साथ ही दो निगेटिव रिपोर्ट के बाद ही वे यूएई के लिए रवाना हो सकेंगे।

Advertisement

हर 5वें दिन कोरोना टेस्ट होगा

यूएई में खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को ट्रेनिंग में शामिल होने से पहले 7 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा। इस दौरान कोई भी होटल में एक-दूसरे से नहीं मिल सकेगा। इस दौरान पहले, तीसरे और छठे दिन
सभी का कोरोना टेस्ट होगा। तीन निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही वे बायो-सिक्योर माहौल में एंट्री और ट्रेनिंग कर सकेंगे। इसके बाद टूर्नामेंट के दौरान हर 5वें दिन कोरोना टेस्ट होगा।

खिलाड़ियों को परिवार साथ ले जाने पर सस्पेंस

खिलाड़ी अपने साथ परिवार को लेकर जा सकते हैं या नहीं, यह फैसला फ्रेंचाइजी ही कर सकती हैं। यदि परिवार साथ जाता है, तो उन्हें भी सख्त प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। परिवारों को भी बायो-सिक्योर माहौल के बाहर किसी से मिलने की अनुमति नहीं होगी। साथ ही अन्य खिलाड़ियों और उनके परिवारों से बातचीत के दौरान मास्क लगाना होगा और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

बायो-सिक्योर नियम तोड़ने पर दो टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आना जरूरी

परिवार के लोग खिलाड़ी के साथ बस में सफर नहीं कर सकेंगे। ट्रेनिंग और मैच के दौरान स्टेडियम में भी एंट्री नहीं मिलेगी। बायो-सिक्योर का उल्लंघन करने वाले को 7 दिन के लिए क्वारैंटाइन रहना होगा। छठे और सातवें दिन कोरोना टेस्ट होगा। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही वे वापस बायो-सिक्योर माहौल में लौट सेकेंगे।

BCCI ने सभी टीमों को 20 अगस्त के बाद ही यूएई जाने की अनुमति दी है। ताकि अगर यूएई सरकार की ओर से कोरोना को लेकर कोई नई गाइडलाइंस दी जाती है तो उसका पालन हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!