27.1 C
New Delhi
Sunday, September 19, 2021

कोरोना ड्यूटी से गायब रहना डॉक्टर को पड़ा महंगा, सरकार ने थमाया सस्पेंशन ऑर्डर

पटनाः कोरोना का कहर और जारी लॉकडाउन के बीच प्रदेश सरकार ने एक सहायक मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबित ACMO का नाम डॉक्टर महेन्द्र सिंह है और उन पर सरकार के आदेश की अवहेलना का आरोप है।

Advertisement

जानकारी के मुताबिक ACMO महेंद्र सिंह पटना नगर निगम में तैनात थे। 3 जनवरी को बिहार सरकार ने उनका तबादला करते हुए किशनगंज के सहायक चिकित्सा पदाधिकारी (ACMO) के पद पर तैनात कर दिया था, लेकिन सरकार के निर्देश के बावजूद भी डॉक्टर महेन्द्र ने अधिसूचित पद पर पदभार ग्रहण नहीं किया।

Advertisement

पुनः 19  मार्च को सरकार ने कोरोना महामारी के बीच महेन्द्र सिंह को किशनगंज जाकर पदभार ग्रहण करने का आदेश दिया, लेकिन तब भी वे किशनगंज नहीं पहुंचे। अंत में सोमवार को सरकार ने कड़ा रुख अख्तियाकर करते हुए ACMO डॉक्टर महेंद्र सिंह को निलंबित कर दिया।

Advertisement

उनके निलंबन की अधिसूचना जारी करते हुए सरकार ने बकायदा एक प्रेस विज्ञप्ति भी जारी की है, जिसमें कहा गया है कि डॉक्टर सिंह जैसे अनुशासनहीन, कर्तव्यहीन एवं स्वेक्षाचारी स्वभाव के चिकित्सक का चिकित्सकीय सेवा में बने रहने का कोई औचित्य नहीं।

अभय पाण्डेय
आप एक युवा पत्रकार हैं। देश के कई प्रतिष्ठित समाचार चैनलों, अखबारों और पत्रिकाओं को बतौर संवाददाता अपनी सेवाएं दे चुके अभय ने वर्ष 2004 में PTN News के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। इनकी कई ख़बरों ने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!