33 C
New Delhi
Sunday, May 9, 2021

One nation one ration card योजना लागू, अब देश के किसी भी हिस्से में उठाएं राशन

नई दिल्लीः जनता के हित में केंद्र सरकार की तरफ से एक बड़ा कदम उठाया गया है। सरकार ने राशन कार्ड धारकों के लिए नियमों में बदलाव करते हुए आज से राशन पोर्टेबिलिटी सेवा (Ration portability service) यानी ‘वन नेशन वन राशन कार्ड’ (One nation one ration card) योजना को लागू कर दिया है। इसके लागू होने का साथ ही अब राशन कार्ड धारक देश के किसी भी हिस्से में अपने हक का राशन ले सकते हैं।

Ration Card धारक देश के किसी भी हिस्से में प्राप्त कर सकते हैं राशन

कोरोना संकट के बीच देश भर में जारी लॉकडाउन में One nation one ration card योजना काफी अहम साबित हो सकती है, क्योंकि इसकी मदद से अब Ration Card धारक बिना की बंदिश के देश के किसी भी हिस्से में रियायती दरों पर राशन प्राप्त कर सकते हैं। वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के लागू होने से पहले राशन कार्ड धारक शिर्फ वहीं लाभ प्राप्त कर सकते थे जहां के लिए राशन कार्ड निर्गत किया गया था।

Advertisement

देश भर में फैले लाखों गरीब, कामगारों को मिलेगी राहत

Ration portability service के लागू होने के बाद अब उन लाखों गरीब, कामगारों को भी राहत मिल सकती है जो देश के दूसरे हिस्से में होने के चलते सरकार की रियायती योजनाओं का लाभ लेने से वंचित रह जाते हैं।

Advertisement

20 राज्यों में होनी है शुरुआत, 17 में पहले ही हो चुका है लागू

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को लागू करने के लिए Supreme Court पहले केंद्र सरकार से कह चुकी है। इसकी शुरुआत 20 राज्यों से होनी है, जिसमें से 17 राज्य/केंद्र शासित राज्य पहले ही इस योजना में शामिल हो चुके हैं, जबकि तीन अन्य राज्य मिजोरम, लागालैंड और ओडिशा भी इस योजना का हिस्सा बनने के लिए तैयार हो गए हैं।

योजना को लागू करने के लिए सभी राशन दुकानों पर लगेंगी POS मशिनें

One nation one ration card योजना का लाभ लोगों तक पहुंचाने के लिए PDS लाभार्थियों की पहचान की जाएगी और उनके आधार कार्ड पर इलेक्ट्रिक प्वाइंट ऑफ सेल (POS) से योजना का लाभ दिया जा सकेगा। इस योजना को लागू करने के लिए सरकार को देश की सभी राशन दुकानों पर पीडीएस मशनें लगानी है। इस योजना को राज्यों में लगने वाली पीओएस मशीनों को विस्तार दिया जाएगा।

योजना का लाभ लेने के लिए नए राशन कार्ड की जरूरत नहीं

इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको किसी नए राशन कार्ड की जरूरत नहीं होगी पुराने राशन कार्ड मान्य होंगे। राशन कार्ड दो भाषाओं में जारी किया जाएगा। इनमें से एक भाषा स्थानीय होगी, जबकि दूसरी हिंदी या अंग्रेजी। इस योजना के तहत राशन कार्ड धारक पहले की तरह ही 2 रुपये किलो की दर से गेहूं और 3 रुपये किलो की दर से चावल प्राप्त कर सकेंगे।

योजना का लाभ पाने के लिए Ration card का होना जरूरी

हालांकि इस योजना का लाभ पाने के लिए राशन कार्ड अनिवार्य होगा, ऐसे में अगर आपका राशन कार्ड नहीं बन सका है तो इस छोटी सी प्रक्रिया को अपना कर आप राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन एप्लाई कर सकते हैं।

ऑनलाइन राशन कार्ड के लिए ऐसे करें अप्लाइ (Online apply for ration card)

  • अपने राज्य के खाद्य विभाग की वेबसाइट पर जाएं।
  • अपने पसंद की भाषा का चुनाव करें।
  •  मांगी गई जानकारी जैसे जिला, कस्बा, ग्राम पंचायत आदि उपलब्ध कराएं
  • कार्ड का प्रकार चुनें।
  • पूनः मांगी गई जानकारी, जैसे- परिवार के मुखिया का नाम, आधार डिटेल, वोटर आईडी और मोबाइल नंबर उपलब्ध कराएं।
  • अंत में एक बार फिर से भरे गए पूरे फॉर्म का अवलोकन कर लें।
  • सबकुछ सही होने के बाद सबमिट पर क्लिक करें।
  • क्लिक करने के साथ हीं एक नया विंडो खुलेगा, जिसमें आपका राशन कराड तैयार मिलेगा।
  • राशन कार्ड को प्रिंट करके उसे अपने पास रख लें।

Read also: Zee News के बाद देश के एक और मीडिया संस्थान पर फटा ‘कोरोना बम’

Avatar
अभय पाण्डेय
आप एक युवा पत्रकार हैं। देश के कई प्रतिष्ठित समाचार चैनलों, अखबारों और पत्रिकाओं को बतौर संवाददाता अपनी सेवाएं दे चुके अभय ने वर्ष 2004 में PTN News के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। इनकी कई ख़बरों ने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!