17.1 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024
-Advertisement-

राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट में रविवार को आया नया मोड़

जयपुर: राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट और सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को होने वाली सुनवाई से पहले बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के महासचिव सतीश मिश्रा ने रविवार को राजस्थान में अपने सभी 6 विधायकों को व्हिप जारी कर कांग्रेस सरकार की ओर से लाए जाने वाले विश्वास मत के खिलाफ वोट करने को कहा है।

बहुजन समाज पार्टी की ओर से जारी व्हिप के अनुसार सभी विधायकों को राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस की ओर से लाए जाने वाले विश्वास मत या किसी भी अन्य कार्यवाही के दौरान सरकार के खिलाफ वोट करने को कहा गया है। व्हिप के अनुसार, अगर कोई भी विधायक पार्टी व्हिप के खिलाफ जाकर वोट करता है तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए और उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द की जाए।

करीब 1 साल पहले ही राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष ने बहुजन समाज पार्टी की राज्य इकाई को कांग्रेस में विलय की मंजूरी दे दी थी। ऐसे में व्हिप लागू कैसे हो पाएगा।

बसपा की ओर से राज्य के अपने सभी 6 विधायकों के अलावा राज्यपाल कलराज मिश्रा और विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को भी पत्र भेजा गया है कि 10वीं सूची के अनुसार किसी भी राष्ट्रीय पार्टी का विलय राज्य के स्तर पर नहीं हो सकता है क्योंकि सभी विधायकों ने पार्टी (बीएसपी) के चुनाव चिन्ह पर विधानसभा चुनाव जीता था।

इसलिए सभी बसपा विधायकों के लिए पार्टी की ओर से व्हिप जारी किया जा सकता है। इसके आधार पर रविवार को पार्टी के महासचिव सतीश मिश्रा ने अपनी पार्टी के सभी विधायकों के लिए पार्टी की व्हिप जारी किया है।

हालांकि बसपा ने अब इस संबंध में राजस्थान हाईकोर्ट जाने का ऐलान किया है। बहुजन समाज पार्टी अपने विधायकों के कांग्रेस में विलय के विधानसभा अध्यक्ष के मंजूरी के निर्णय के खिलाफ सोमवार को राजस्थान हाईकोर्ट जाएगी।