20.7 C
New Delhi
Saturday, March 2, 2024
-Advertisement-

पति की नेकदिली और प्यार से तंग आकर पत्नी ने दी तलाक़ की अर्जी

संभलः पति से झगड़कर पत्नी का तलाक़ मांगना आम बात है। लेकिन कभी किसी पत्नी का इसलिए तलाक मांगना कि उसका पति उससे झगड़ा नहीं करता, क्या आपने सुना है? मामला उत्तर प्रदेश के संभल का है। यहां एक पत्नी ने अपने पति की नेकदिली और प्यार से तंग आकर शरई अदालत और पंचायत में तलाक़ की अर्जी दाखिल की है। पत्नी का आरोप है कि शादी को 18 महीने गुजर जाने के बाद भी पति ने कभी उससे लड़ाई नहीं की और ना ही कभी बहस की। पत्नी का कहना है कि मुझे ऐसा पति नहीं चाहिए जो मेरी हर बात मान ले और कभी झगड़ा ना करे इसलिए मुझे तलाक चाहिए।

पत्नी का कहना है कि वह अपने पति से मिलने वाले बेइंतहा प्यार को बर्दाश्त नहीं कर पा रही। पत्नी आरोप है कि उसका  पति किसी भी बात पर नाराज़ नहीं होता और ना हीं कभी झल्लाता और चिल्लाता है। पत्नी की माने उसके पति ने कभी उदास भी होने दिया न ही झगड़ा किया। हैं। वह लगातार ऐसे माहौल से घुटन महसूस कर रही है।

Read also: इन शहरों में दिल खोलकर दी जाती हैं गाली, सुनने वाले को ऐतराज नहीं

इतना ही नहीं पति कभी-कभी पत्नी के लिए खाना भी पकाता है और घर के काम में भी उसकी मदद करता है। 18 महीने की शादी में दोनों के बीच एक बार भी झगड़ा नहीं हुआ। पत्नी का कहना है कि मैं एक झगड़े के लिए तरस रही हूं। मैं कोई गलती करूं तो वह हमेशा माफ कर देते हैं। मैं उसके साथ बहस करना चाहती हूं। मुझे ऐसी जिंदगी नहीं चाहिए, जिसमें मेरा पति मेरी हर बात माने।

बहरहाल, इस अजीबो गरीब तलाक़ की अर्जी ने सबको हैरत में डाल दीया है। शरई अदालत के उलेमा ने तलाक़ की अर्जी को खारिज कर दिया। उलेमा द्वारा अर्जी खारिज करने के बाद पत्नी ने पंचायत में तलाक़ की अर्जी दी जिस पर पंचो द्वारा यह कहकर पल्ला झाड़ लिया गया कि यह मामला घर का है, इसमें पंचायत कुछ नहीं कर सकता।

News Stump
News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system