24.1 C
New Delhi
Thursday, February 29, 2024
-Advertisement-

Bihar Election 2020: ‘ना भूले हैं!…ना भूलने देंगे!!’ सुशांत की मौत पर सियासी बानगी

पटना: आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार सुशांत सिंह राजपूत की मौत का मामला चुनावी मुद्दा बनता दिख रहा है। इसका एक इशारा साफ तौर पर मिल गया है, क्योंकि भाजपा में कला संस्कृति प्रकोष्ठ के बिहार संयोजक वरुण कुमार सिंह ने सुशांत सिंह की तस्वीर वाली स्टीकर, पोस्टर, बैनर और मास्क लांच किए है, जिसमें लिखा है “ना भूले हैं, ना भूलने देंगे”।

वरुण कुमार सिंह के लांच किए स्टीकर, पोस्टर, बैनर और मास्क में दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की तस्वीर लगी हुई है। तस्वीर के ऊपर हैश टैग के साथ ‘जस्टिस फॉर सुशांत’ लिखा है और तस्वीर के नीचे लिखा है- ‘ना भूले हैं! ना भूलने देंगे!!’ इतना ही नहीं इस तस्वीर पर भाजपा का चुनाव चिन्ह कमल का भी निशान है, जिसके नीचे लिखा है कला एवं संस्कृति प्रकोष्ठ, भाजपा, बिहार प्रदेश।

बिहार में विपक्षी पार्टी RJD ने सुशांत की मौत का भाजपा द्वारा माइलेज लेने की आलोचना करते हुए कहा, ‘यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि घटना को राजनैतिक रंग दिया जा रहा है।’ राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि तेजस्वी यादव पहले नेता थे जिन्होंने सुशांत की मौत की CBI जांच की मांग की थी।

हालांकि, बिहार की हर राजनैतिक पार्टी CBI जांच की राग अलाप रही थी। इसका सबसे बड़ा कारण था कि सुशांत राजपूत जाति से आते थे। बिहार के मतदाताओं में इस जाति की तादाद अच्छी खासी है।

वहीं, वरुण कुमार सिंह का कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने के लिए वो पिछले 16 जून से ही अभियान चला रहे हैं। उन्होंने आगे बताया कि 14 जून की घटना के बाद से सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए उनके अलावा करणी सेना ने भी स्टीकर और मास्क बनाकर लोगों को बांटा है।

हालांकि, इस मामले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना है कि भाजपा सुशांत सिंह राजपूत मामले की निष्पक्ष जांच चाहती थी। सीबीआई अब इस मामले की जांच कर रही है, फिर इसे चुनावी मुद्दा बनाने का क्या मतलब है।