34.1 C
New Delhi
Friday, September 24, 2021

10वीं फेल तेजस्वी का राजस्थान के इस बड़े कॉलेज से रहा है गहरा नाता

पटनाः बिहार की राजनीति में जलवा बिखेरने वाले लालू के लाल तेजस्वी यादव पर भले ही 10वी फेल ठप्पा लगा है, लेकिन अजमेर के मेयो कॉलेज (Mayo College Ajmer) से उनका पुराना रिश्ता है। अब आप कहेंगे कि जिस मेयो कॉलेज की गिनती देश के चंद चुनिंदा शिक्षण संस्थानों में होती है, वहां से पढ़कर तेजस्वी 10वी फेल कैसे रह गए। तो हम आपको बताते हैं… तेजस्वी का नाता उस कॉलेज से पढ़ाई को लेकर नहीं, बल्कि खेल को लेकर था। तेजस्वी उस कॉलेज में साल 2005-08 के बीच कई बार क्रिकेट मैच खेल चुके हैं।

Advertisement

दरअसल, तेजस्वी का क्रिकेट से पुराना रिश्ता है। राजनीति की पिच पर सियासी बल्लेबाजी करने से पहले वे क्रिकेट की पिच पर बल्लेबाजी करते थे। उन दिनों वे राजनीति में नहीं क्रिकेट में अपना करियर तलाश रहे थे और डीपीएस आरके पुरम की टीम में शामिल थे। उसी दौरान वर्ष 2005-06 और 2007-08 में तेजस्वी यादव ने अजमेर के मेयो कॉलेज (Mayo college Ajmer) में आयोजित पब्लिक स्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था।

Advertisement

मौका मिलते ही पकड़ लेते थे बॉल और बल्ला

आपको बता दें, तेजस्वी ही नहीं तेज प्रताप भी मेयो कॉलेज (Mayo College Ajmer) के ग्राउंड पर क्रिकेट में अपने हाथ आजमा चुके हैं। तेजस्वी और तेजप्रताप की बहनें अजमेर के मेयो गर्ल्स कॉलेज में पढ़ा करती थीं। दोनो भाई, बहनों मिलने अक्सर उस कॉलेज में जाया करते थे और मौका मिलते ही क्रिकेट का शौक भी पुरा कर लिया करते थे।

Advertisement

चार बार मिला IPL खेलने का मौका

तेजस्वी यादव को पहले घरेलू क्रिकेट में झारखंड टीम, और फिर IPL में खेलने का भरपूर मौका मिला। वह IPL टीम में कई बार चुने गए, लेकिन कभी प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बन सके। वे IPL- 2008, 2009, 2011 और 20012 में दिल्ली डेयरडेविल्स टीम (Delhi daredevils team) के सदस्य रहे हैं। उन्होंने घरेलू क्रिकेट में चार T-20 खेले, जिनमें से एक में उन्हें बल्लेबाजी करने का मौका मिला था, लेकिन वह सिर्फ 3 रन ही बना सके थे। क्रिकेट खेलने के दौरान तेजस्वी, महेंद्र सिंह धोनी के फैन थे और वह बाल भी उन्हीं की तरह रखते थे।

2014 से राजनीति में सक्रिय

साल 2014 में उनकी किस्मत ने ऐसा टर्न लिया कि क्रिकेट की पिच छोड़ सीधा राजनीति की पिच पर आ गए। आज-कल वे इसी पिच पर छक्का-चौका जड़ने में लगे हैं। 2015 की बिहार विधानसभा चुनाव में तेजस्वी ने RJD की पारंपरिक सीट राघोपुर से चुनाव लड़ा। उन्होंने BJP उम्मीदवार सतीश कुमार को 22000 वोटों से हराया। JDU के साथ उन्होने बिहार में सरकार बनाई और प्रदेश के उप मुख्यमंत्री भी रहे। अभी भी वे राघोपुर विधानसभा सीट से विधायक हैं और एक माहिर राजनीतिज्ञ की तरह विरोधियों के छक्के छुड़ाते हुए RJD की कमान संभाल रहे हैं।

Read also: पढ़िए- RJD चीफ लालू यादव के जीवन से जुड़ी एक दिलचस्प और अनसुनी कहानी

अभय पाण्डेय
आप एक युवा पत्रकार हैं। देश के कई प्रतिष्ठित समाचार चैनलों, अखबारों और पत्रिकाओं को बतौर संवाददाता अपनी सेवाएं दे चुके अभय ने वर्ष 2004 में PTN News के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। इनकी कई ख़बरों ने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!