14 C
New Delhi
Friday, February 23, 2024
-Advertisement-

डॉ. सत्तानंद संबुद्ध बने साहेबपुर कमाल से राजद के उम्मीदवार, क्षेत्र की जनता हुई गदगद

बेगूसरायः जिले के सबसे हॉट सीट बनी साहेबपुर कमाल विधानसभा से राजद ने डॉ. सत्ता नंद संबुद्ध को अपना उम्मीदवार बनाया है। डॉ. सत्तानंद पटना से सिंबल लेकर आज क्षेत्र में पहुंचे, जहां कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया। अपने विधानसभा में घूम-घूमकर लोगों से मिलकर आशीर्वाद मांगा। इस दौरान उनके साथ काफी संख्या में कार्यकर्ताओं के साथ विधानसभा की जनता उपस्थित थी।

डॉ. सत्तानंद संबुद्ध लालू के बेहद करीबी श्रीनारायण यादव के पूत्र हैं। श्रीनारायण यादव वर्तमान में इसी सीट से विधायक हैं। पिता की अत्यधिक उम्र होने की वजह से इस तेजस्वी ने उनके युवा एवं प्रतिभावान बेटे सत्तानंद संबुद्ध उर्फ ललन भैया को यहां से मौका दिया है।

साहेबपुर कमाल का चुनावी इतिहास

बेगुसराय जिले में साहेबपुर कमाल विधानसभा सीट परिसीमन आयोग की 2008 की रिपोर्ट के बाद अस्तित्व में आई थी। इससे पहले यह सीट बलिया के नाम से जानी जाती थी। साहेबपुर कमाल सीट पर अभी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) का कब्जा है।

साहेबपुर विधानसभा सीट 2015 के विधानसभा चुनावों में राजद उम्मीदवार श्रीनारायण यादव ने 78,225 (57.1%) मतों के साथ लोजपा के मोहम्मद असलम को मात दी थी। मोहम्मद असलम को 32,751 (23.9%) मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहना पड़ा। निर्दलीय उम्मीदवार सुरेंद्र विवेक 12,259 (9.0%) के साथ तीसरे स्थान पर रहे थे।

इससे पहले 2014 के विधानसभा उपचुनावों में राजद उम्मीदवार श्रीनारायण यादव ने जीत हासिल की थी। 2010 के विधानसभा चुनावों में जदयू उम्मीदवार परवीन अमानुल्लाह ने 46,391 (43.0%) मतों के साथ जीत हासिल की थी। राजद के श्रीनाराणय यादव 35,280 (32.7%)मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहे थे। वहीं कांग्रेस के राकेश सिंह 9,578 (8.9%) मतों के साथ तीसरे स्थान पर रहना पड़ा था।

फरवरी 2005 के विधानसभा चुनाव में राजद के श्रीनारायण यादव जीते थे जबकि अक्टूबर 2005 में जदयू के जमशेद अशरफ को जीत मिली थी। वर्ष 2000, 1995 और 1990 के विधानसभा चुनावों में लगातार राजद के उम्मीदवार श्रीनारायण यादव जीत हासिल करते रहे। 1985 के चुनावों में कांग्रेस के सामसू जेहा को कामयाबी मिली जबकि 1980 के चुनावों में श्रीनारायण यादव जनता दल के टिकट पर विधानसभा पहुंचे थे।

जनता पार्टी के प्रत्याशी चंद्रचूड़ देव 1977 के चुनावों में विधानसभा सदस्य चुने गए थे। इससे पहले यानी 1972 के चुनाव में चंद्रचूड़ देव भारतीय जनसंघ के टिकट पर चुनाव जीतने में कामयाब रहे थे। 1969 के चुनाव में कांग्रेस के जमालुद्दीन यहां से विधायक बने और 1967 में ए मिश्रा संघाता सोशलिस्ट पार्टी से विधायक चुने गए थे। 1962, 1957 और 1951 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस लगातार जीतती रही। 1962 में प्रेमा देवी, 1957 और 1951 में ब्रह्मदेव नारायण सिन्हा कांग्रेस से विधायक बने।

साहेबपुर कमाल का सामाजिक ताना-बाना

जनगणना 2011 के मुताबिक बेगुसराय लोकसभा सीट के तहत आने वाले साहेबपुर कमाल क्षेत्र की कुल आबादी 376350 है। जिनमें 87.37% आबादी गांवों और 12.63% जनसंख्या शहरों में रहती है। इसमें अनुसूचित जाति और जनजाति का अनुपात क्रमशः 10 और 0.04 फीसदी है। 2015 के विधानसभा चुनावों में यहां 58.57% मतदान हुआ था।

News Stump
News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system