16 C
New Delhi
Friday, February 26, 2021

संकट में प्लूरल्स पार्टी, पुष्पम प्रिया निर्दलीय प्रत्याशी घो​षित

पटना : खुद को भावी मुख्यमंत्री मानने वाली प्लूरल्स पार्टी की पुष्पम प्रिया चौधरी संकट में आती जा रही हैं। चुनाव आयोग ने उनकी पार्टी का कैंडिडेट मानने से इंकार कर दिया है। वे पटना के बांकीपुर से चुनाव लड़ रही हैं और आयोग ने उनको निर्दलीय उम्मीदवार घोषित कर दिया गया है। उधर हाजीपुर में उनके एक उम्मीदवार की पुलिस ने पिटाई कर दी है। उनका नामांकन भी नहीं हो सका।

पार्टी का रजिस्ट्रेशन हीं नहीं दिखा

Advertisement

पटना जिला निर्वाचन कार्यालय ने उम्मीदवारों की जो सूची जारी की है, उसमें पुष्पम प्रिया को निर्दलीय उम्मीदवार दिखाया गया है। जबकि उन्होंने पटना के बांकीपुर सीट से खुद को द प्लूरल्स पार्टी का उम्मीदवार बताते हुए नामांकन किया था। लेकिन पटना के चुनाव अधिकारियों ने जब उनकी पार्टी के रजिस्ट्रेशन का ब्योरा ढ़ूढ़ा तो वह मिला ही नहीं नतीजतन उन्हें निर्दलीय घोषित कर दिया गया।

Advertisement

अभी चुनाव आयोग की मान्यता नहीं

पुष्पम प्रिया ने अपने एफिडेविट में अपनी पार्टी का नाम ‘द प्लूरल्स पार्टी’ भरा है। यह रजिस्टर्ड तो है लेकिन उसे चुनाव आयोग की मान्यता प्राप्त नहीं हुई है लिहाजा उनका चुनाव चिह्न भी तय नहीं है। पटना के जिला निर्वाचन पदाधिकारी कुमार रवि का कहना है कि नामांकन के समय पार्टी का रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन नही दिख रहा है। मामला तकनीकी है, नामांकन पत्रों की जांच के दौरान इसकी जांच की जायेगी।

हाजीपुर में उम्मीदवार की पिटाई

उधर नामांकन के अंतिम दिन राघोपुर से प्लूरल्स पार्टी के उम्मीदवार अन्नू कुमार सिंह अपना नामांकन दाखिल करने समाहरणालय गए थे, लेकिन उनका नामांकन नहीं हो पाया। इससे गुस्से में वे धरना पर बैठ गए और हंगामा-नारेबाजी करने लगे। देखते ही देखते वहां पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई जिसके बाद पुलिस ने उम्मीदवार को हटाने का प्रयास किया लेकिन वह हटने को तैयार नहीं थे। बाद में पुलिस ने जबरन उठाकर ले गई। इस दौरान जमकर पिटाई भी कर दी।

अजय वर्मा
अजय वर्मा
समाचार संपादक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!