19 C
New Delhi
Thursday, February 25, 2021

माँ के क़ातिल बेटे को साढ़े तीन साल बाद अदालत ने सुनाई उम्रकैद की सजा

दरभंगाः व्यवहार न्यायालय के फास्ट ट्रैक कोर्ट ने एक क़ातिल बेटे को उम्रकैद की सजा सुनाई है। सजा पाने वाले शख़्स का नाम अरुण सदाय है और उस पर अपनी ही माँ के कत्ल का इल्जाम है। इससे पहले फास्ट ट्रैक कोर्ट के पीठासीन पदाधिकारी नरेंद्र प्रसाद की अदालत ने दफा 302 में पिछले सोमवार को अरुण सदाय को दोषी करार दिया था।

बता दे कि दरभंगा के कमतौल थाना क्षेत्र के माधोपट्टी निवासी जिया सदा ने 24 अगस्त 2016 को प्राथमिकी संख्या 139/16 दर्ज कराया था। जिसमें आरोप लगाया गया था कि उनकी 56 वर्षीय पत्नी सावरिया देवी को उनके बड़े पुत्र अरुण सदाय ने बांस के डंडे से गर्दन पर मारकर हत्या कर दीया है।

Advertisement

अभियोजन पक्ष का संचालन कर रही अपर लोक अभियोजक रेणू झा ने सत्रवाद संख्या 77/17 के विचारण में अभियोजन साक्षियों को पुलिस की मदद से कोर्ट में उपस्थित कराकर अभियोजन पक्ष को मजबूत किया। जिसमें लाश का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर, केस के IO समेत कुल आठ गवाहों की गवाही कराई गई।

Advertisement

अदालत ने पाया कि सावरिया देवी की हत्या के लिए मृतिका का पुत्र अरुण सदाय ही दोषी है। फिर इस मामले को लेकर सजा की अवधि के लिए वाद अभिलेख को 29 फरवरी को निर्धारित किया गया जिसमें आज शनिवार को अदालत ने क़ातिल बेटे को उम्रकैद की सजा सुनाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!