16 C
New Delhi
Friday, February 26, 2021

राजभवन से आदेश के बाद विवादित मेवालाल का इस्तीफा, अशोक चौधरी को प्रभार

पटना: राजभवन से आदेश आया और विवादित शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने चार्ज लेने के कुछ घंटे भर बाद इस्तीफा दे दिया। शपथ ग्रहण से तीन दिन के अंदर ही उनकी नियुक्ति को लेकर सरकार विवादों में घिर गई थी। अब अशोक चौधरी को इस विभाग का प्रभार दिया गया है।

मेवालाल की सफाई

पूर्व शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने विवादोंपर कहा था कि कोई भी केस तब साबित होता है जब आपके खिलाफ़ कोई चार्जशीट हुई हो या कोर्ट ने कुछ फैसला किया हो। न हमारे खिलाफ अभी कोई चार्जशीट हुई है न ही हमारे ऊपर कोई आरोप दर्ज़ हुआ है।

Advertisement

कई परतों में छिपा है विवाद

मेवालाल के विवाद के भीतर कई परतें छिपी हैं जिससे सरकार भी बेनकाब होती है। वह 2015 में जदयू के विधायक बने थे। 2012—13 में बिहार कृषि विश्वविद्यालय के वीसी रहने के वक्त असिस्टेंट प्रोफेसर और जूनियर साइंटिस्ट की नियुक्ति में भारी घपला हुआ था। 2017 में उसका भ्रष्टाचार उजागर हुआ, उसके खिलाफ राजभवन के आदेश पर एफआईआर हुआ तब जदयू से निलंबित किये गये। गिरफ्तारी के डर से फरार चल रहे मेवालाल को जमानत दिलाने में सरकार की ओर से ही मदद की गई। कोर्ट के रिकार्ड में दर्ज है कि सरकारी वकील ने उसकी बेल अर्जी का विरोध तक नहीं किया। सरकार ने आज तक मेवालाल के खिलाफ चार्जशीट की अनुमति नहीं भी दी। सितंबर, 2019 से पुलिस चार्जशीट के लिए सरकार की अनुमति का इंतजार कर रही है। इस तरह वे कानून के शिकंजे से बचे रहे और उसे दुबारा पार्टी का टिकट दे दिया गया।

Advertisement

अजय वर्मा
अजय वर्मा
समाचार संपादक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!