12 C
New Delhi
Saturday, November 28, 2020

जान लीजिए जनता कर्फ्यू और कोरोना के चारो स्टेज के बारे में

पटनाः भारत में कोरोना के प्रभाव को कम करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपील की है कि वे ‘जनता कर्फ्यू’ लगाएं। प्रधानमंत्री मोदी के अनुसार, इस रविवार यानि 22 मार्च 2020 को सुबह 7:00 बजे से रात 9:00 बजे तक कोई व्यक्ति बाहर न निकले। ‘जनता कर्फ्यू’ जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यू है। उन्होने अपने सम्बोधन में भारत की जनता से आग्रह किया कि वे सभी आने वाले 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करें।

कोई भी नागरिक घरों से बाहर न निकले

उन्होने जनता कर्फ्यू (Janata curfew) को जनता के लिए, जनता द्वारा, खुद पर लगाया गया कर्फ्यू कहकर परिभाषित किया। साथ ही देशवासियों से आग्रह किया कि जनता कर्फ्यू (Janata curfew) के दौरान जरुरी सेवाओं से सम्बन्धित लोगो के अतिरिक्त कोई भी नागरिक घरों से बाहर न निकलें।

Advertisement

Read also: कोरोना पर पीएम मोदी ने जताई चिंता, जनता से की सजग रहने की अपील

Advertisement

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये ‘जनता कर्फ्यू’ कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई के लिए भारत कितना तैयार है, ये देखने और परखने का भी समय है। उन्हों ने कहा कि जनता कर्फ्यू (Janata curfew) एक प्रकार से भारत के लिए एक कसौटी की तरह होगा।

ब्लैक आउट क्या है?

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि आज की पीढ़ी इससे बहुत परिचित नहीं होगी लेकिन पुराने समय में जब युद्ध की स्थिति होती थी तो गांव-गांव में ब्लैसक आउट किया जाता था। घरों के शीशों पर कागज लगाया जाता था, लाईट बंद कर दी जाती थी, लोग चौकी बनाकर पहरा देते थे।

कोरोना के दूसरे स्टेज में  है भारत

कोरोना वायरस फैलने के चार अलग-अलग स्टेज हैं।  भारत इस वक्त कोरोना के दूसरे स्टेज में है। पहले स्टेज में वह स्थिति आती है जिसमें किसी दूसरे देश से संक्रमित व्यक्ति हमारे देश में आए। दूसरी स्टेज जिससे फिलहाल भारत गुजर रहा है उसमें विदेश से आए संक्रमित व्यक्ति से स्थानीय स्तर पर संक्रमण फैलने लगे।

Read also: कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर सामने आई पहली अच्छी ख़बर

क्या होगा कोरोना के तीसरे स्टेज में ?

कोरोना की तीसरी स्टेज होती है सामुदायिक प्रसारण (Community Transmission) की। इस तीसरे स्टेज में (Third stage of Corona) संक्रमण स्थानीय स्तर पर तेजी से फैलने लगता है। एक या दो लोगों की बजाय इससे कई इलाके प्रभावित हो जाते हैं। इसमें बिना विदेश यात्रा किए भी लोगों में संक्रमण पाया जाने लगता है।

क्या होता है कोरोना के चौथे स्टेज में ?

तीसरे स्टेज के बाद बारी आती है कोरोना के चौथे स्टेज की (Fourth stage of Corona)। इस चौथे स्टेज में यह संक्रमण महामारी बन जाती है। भारी संख्या में लोगों की मौत होने लगती है, जिस पर काबू पाना बेहद मुश्किल हो जाता है। चीन में कोरोना अपने चौथे स्टेज तक पहुंच चुका है, जिसकी वजह से वहां भारी तादाद में लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। हालांकि अभी वहां हालात थोड़े काबू में हैं, लेकिन जब तक एक भी संक्रमित व्यक्ति बचा है तब तक ख़तरा बना हुआ है।

जनता कर्फ्यू से दूसरे स्टेज में ही खत्म हो सकते हैं कोरोना के वायरस

यहां एक बात बताना बेहद जरूरी है…प्रधानमंत्री मोदी ने जिस जनता कर्फ्यू (Janata curfew) के लिए देश के नागरिकों से अपील की है अगर उस पर पुरी तरह से अमल किया जाता है, तो संभव है कोरोना के वायरस अपने दूसरे स्टेज में ही दम तोड़ देगे।लेकिन किसी कारणवस हम चुक गए और यह तीसरे और चौथे स्टेज में पहुंच गया, तो देश में लौकडाउन की स्थिति उतपन्न हो सकती है।

क्या होता है लॉकडाउन ?

लॉकडाउन (lock down) की स्थिति जनता कर्फ्यू से अलग होती है। यह (Lock down) एक एमरजेंसी व्यवस्था है जो किसी आपदा के वक्त लागू की जाती है। इसका फ़रमान सरकार की तरफ से जारी किया जाता है और इसका पालन सख़्ती से हो ये सुनिश्चित करने के लिए सरकार दिशा-निर्देश भी जारी करती है। जरूरत पड़ने पर सरकार चाहे तो क़ानून का सहारा भी ले सकती है। जैसा हम इटली और चीन में देख चुके हैं।

Avatar
अभय पाण्डेय
आप एक युवा पत्रकार हैं। देश के कई प्रतिष्ठित समाचार चैनलों, अखबारों और पत्रिकाओं को बतौर संवाददाता अपनी सेवाएं दे चुके अभय ने वर्ष 2004 में PTN News के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। इनकी कई ख़बरों ने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!