32.1 C
New Delhi
Saturday, July 24, 2021

कश्मीरी नेताओं संग बैठक में पीएम मोदी से चूक!, अब सोशल मीडिया पर होने लगे ट्रोल

नई दिल्लीः देश में मैजूद कोरोना और  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में जम्‍मू-कश्‍मीर के सभी राजनीतिक दलों के साथ आहुत बैठक के बाद सोशल मीडिया पर बहस छीड़ गई है। बैठक में शामिल नेताओं द्वारा कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं किए जाने को लेकर लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं। लोगों ने नोताओं के साथ पीएम मोदी की ग्रुप फोटों को शोसल मीडिया साझा किया है और कैप्सन में लिखा है, ‘दो गज दूरी, मास्क है जरूरी’।

‘दो गज दूरी, मास्क है जरूरी’ कैप्सन के साथ साझा की गई तस्वीर पर दूसरे लोग भी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। एक ने लिखा है,पिच्चर खराब नहीं होनी चाहिए। चाहे संदेश लोगों में कुछ भी जाये।‘

Advertisement

एक ने लिखा है,‘कोरोना नियमों को ताक पर रख के दूसरों को ज्ञान देते हैं @narendramodi जी’। एक ने कानूनी कर्रवाई किए जाने की बता करते हुए लिखा है, ‘इनपर भी करवाई होनी चाहिए। कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने की’। एक ने पुलिस वालों को ही ललकार दिया और लिखा,’है कोई ऐसा माँ का लाल पुलिस वाला ………. जो इनका चालान काट सके बिना मास्क का’

Advertisement

बता दें, जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकांश प्रावधान हटाए जाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित किए जाने के बाद यह पहली ऐसी बैठक है जिसकी अध्यक्षता खुद प्रधानमंत्री मोदी ने की। इस बैठक में जम्मू-कश्मीर के सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने भाग लिया। इस बैठक को जम्‍मू-कश्‍मीर के विकास और लोकतंत्र को मजबूती देने की दिशा में एक बहुत ही सकारात्मक प्रयास माना जा रहा है।

बैठक बहुत ही अच्‍छे वातावरण में हुई। बैठक के बाद केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ जितेन्द्र सिंह और जम्मू कश्मीर के राज्यपाल मनोज सिन्हों के अलावें भाग लेने वाले सभी दलों के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ फोटो सूट करवाया। फोटो में शामिल 18 लोगों में से मात्र दो लोग ऐसे हैं जिन्होंने कोरोना प्रोटोकॉल के तहत मुंह पर मास्क पहना है। अब उसी तस्वीर को लेकर लोगों ने सोशल मीडिया पर बहस छेड़ दिया है।

Read also: साढ़े तीन घंटे चली कश्मीरी नेताओं संग PM मोदी की सर्वदलीय बैठक, इन बातों पर हुआ विचार

दूसरी तरफ ‘डेल्टा वेरिएंट’ की मौजूदगी का पता भारत सहित दुनिया के 80 देशों में चला है। धीरे-धीरे देश के कई राज्यों से डेल्टा प्लस वैरिंएंट  (Delta Plus Variant) पाए जाने की ख़बरें सामने आ रही हैं। अभी तक जिन राज्यों में Delta Plus Variant के मामले सामने आए हैं उनमें जम्मू-कश्मीर भी शामिल है। देश में अब तक डेल्टा प्लस वैरिंएंट के कुल 40 मामले दर्ज किए गए हैं। ज्यादातर केस महाराष्ट्र, केरल और तमिलनाडु से सामने आए हैं। हालांकि Delta Plus Variantके मामले सामने आने की बात मध्य प्रदेश और जम्मू- कश्मीर में भी कही जा रही हैं।

Read also: प्रमाणहीन है कि Delta Plus Variant से COVID Third Wave को मिलेगा बढ़ावा- जीनोम सीक्वेंसर

भारतीय सार्स कोव-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) ने सूचना दी है कि Delta Plus Variant वर्तमान में चिंताजनक वेरिएंट (VOC) है, जिसमें तेजी से प्रसार, फेफड़े की कोशिकाओं के रिसेप्टर से मजबूती से चिपकने और ‘मोनोक्लोनल एंटीबॉडी’ प्रतिक्रिया में संभावित कमी जैसी विशेषताएं हैं।

अभय पाण्डेय
आप एक युवा पत्रकार हैं। देश के कई प्रतिष्ठित समाचार चैनलों, अखबारों और पत्रिकाओं को बतौर संवाददाता अपनी सेवाएं दे चुके अभय ने वर्ष 2004 में PTN News के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। इनकी कई ख़बरों ने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!