24 C
New Delhi
Sunday, February 25, 2024
-Advertisement-

अभिभावकों का इंतेजार हुआ खत्म, सोमवार को छात्रों से भरी श्रमिक ट्रेन पहुंचेगी सीवान

सीवान: बिहार के साथ साथ सीवान जिले के अभिभावकों के भी इंतेजार की घड़ी खत्म होती नजर आ रही है। ऐसा हम इसलिए कह रहे है क्योंकि लॉकडाउन की घोषणा के बाद से ही बिहार के विभिन्न जिलो के अभिभावक एवं जनप्रतिनिधियों के द्वारा कोटा मे रह रहे छात्रों के वापसी हेतु माँग उठ रही थी। उसके बाद सूबे के मुखिया नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी से लॉकडाउन के नियमो मे छूट की माँग की थी।

मुख्यमंत्री नितीश कुमार के माँग के बाद केंद्र सरकार के द्वारा नियमों मे छूट ही नही की गई बल्कि अपने परदेश से बाहर रह रहे प्रवासी मजदूरों एवं छात्रो को अपने परदेश भेजने के लिए स्पेशल श्रमिक ट्रेन का परिचालन भी शुरू किया गया है। उसी क्रम मे सोमवार को कोटा से लगभग 1200 छात्रों से भरी स्पेशल ट्रेन सीवान पहुँच रही है, जिसको लेकर रविवार को सीवान के जिलाधिकारी अमित पांडे के द्वारा जंक्शन का निरीक्षण किया गया तथा सुरक्षा एवं अन्य सुविधाओं का जायजा लिया।

जिलाधिकारी अमित पांडे ने मीडिया से बताया कि सोमवार को लगभग 24 बोगियों मे 1200 छात्रों से भरी श्रमिक स्पेशल ट्रेन लगभग 12 बजे सीवान जंक्शन पहुंचेगी।  ट्रेन में 600 छात्र सीवान के, 500 छात्र गोपालगंज और 100 छात्र मोतीहारी जिले के रहने वाले है।

उन्होंने बताया कि सभी छात्रों के थर्मल एवं अन्य स्वास्थ जांच के सुविधावों के साथ प्लेटफॉर्म पर ही 24 टेबले लगाई गई है, जहाँ जाँच कराने के बाद सीवान को छोड़कर अन्य जिलो के छात्रों के लिए बसें जंक्शन पहुँच गई है। बस से छोत्र अपने-अपने जिलो के लिए रवाना होंगे।

डीएम सीवान के मुताबिक सीवान के छात्रों को उनके प्रखण्ड के कोरेंटाइन सेंटर भेजा जाएगा जहाँ से प्रथम जाँच मे कोरोना निगेटिव पाये गये छात्रों को घर ले जाने के लिए अभिभावकों को स्वास्थ विभाग के द्वारा तैयार किए गये शपथ पत्र को भरना अनिवार्य किया गया हैं, जिसको भरकर अभिभवाक अपने जिम्मेवारी पर अपने बच्चों को घर ले जा सकेंगे।