28.1 C
New Delhi
Friday, September 24, 2021

COVID पर केंद्रीय मंत्री ने विपक्षियों को दिखाया आईना, कहा- संगठित होकर लड़नी होगी लड़ाई

नई दिल्लीः केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने COVID-19 के खिलाफ संगठित युद्ध का आह्वान किया है। सिंह ने कहा है कि COVID महामारी एक ऐसी आपदा है जो एक सदियो में एक बार आती है और अब समय आ गया है कि हमें मानव जाति के व्यापक हित में COVID से लड़ाई में राजनीति से ऊपर उठकर काम करना होगा।

Advertisement

एक साक्षात्कार में, डॉ. जितेंद्र सिंह ने इस तथ्य पर निराशा व्यक्त की कि कई विपक्षी नेताओं के साथ-साथ तथाकथित बुद्धिजीवियों ने अपना बहुत समय और ऊर्जा, प्रेस को बयान जारी करने या मोदी सरकार का महामारी का कथित गलत प्रबंधन पर ट्वीट करने में व्यर्थ किया है। उन्होंने कहा, अगर इस चुनौती का सामना करने के लिए प्रशासन और समान विचारधारा वाले नागरिकों के साथ हाथ मिलाने में उनके द्वारा ऊर्जा को खर्च किया जाता, तो भारत की कोविड के खिलाफ लड़ाई बहुत आसान हो जाती।

Advertisement

डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा, “उन्होंने हाल ही में जो एक घटनाक्रम देखा है, जिसमें विपक्षी राजनेताओं के साथ-साथ कुछ मीडिया लेखकों के बीच सरकार की निंदा करने वाले अभियान को लगातार चलाने के लिए किसी तरह का गठजोड़ स्थापित हो गया है।“ उन्होंने ऐसे सभी आलोचकों से अपील की कि यदि वे वास्तव में कोई कमी देखते हैं, तो वे आगे आएं और इस अंतराल को पाटने में योगदान दें।

Advertisement

डॉ. जितेंद्र सिंह ने ऐसे आलोचकों पर भी कड़ा प्रहार किया जो रोज़ चीख-चीख कर दुनिया को बताते हैं कि भारत सरकार महामारी की दूसरी लहर की गंभीरता का अंदाजा लगाने में विफल रही है।

उन्होंने उन लोगों से रिकॉर्ड की जांच करने के लिए कहा जिससे उन्हें पता चलेगा कि इस साल फरवरी के अंत तक, दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ वैज्ञानिकों और चिकित्सा व्यवसाय से जुड़े लोगों ने भी भविष्यवाणी नहीं की थी कि दूसरी लहर इतनी गंभीरता की होगी। डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि उनमें से कई यह कहते हुए रिकॉर्ड में हैं कि दूसरी लहर में वायरस की अधिक संक्रामकता हो सकती है, लेकिन विषाणु की तीव्रता कम होगी, लेकिन कई कोविड रोगियों में जो वायरस आज हम देखते हैं, यह उस भविष्यवाणी से बिल्कुल विपरीत है। उन्होंने पूछा कि ऐसे में कोविड की दूसरी लहर के लिए मोदी सरकार को दोष देना कितना उचित होगा।

डॉ. जितेंद्र सिंह ने इसे सभी के लिए कठिन समय बताते हुए कहा, यह राजनीतिक कारणों से प्रेरित आलोचना करने या बाहरी विचारों के लिए निर्मित आलोचना करने का अवसर नहीं है। उन्होंने कहा कि इसके बजाय आम जनता के बीच विश्वास पैदा करना और उन्हें यह समझाना महत्वपूर्ण है कि 135 करोड़ से अधिक की आबादी वाले भारत जैसे विशाल देश में कोविड-19 महामारी को युद्ध स्तर पर प्रभावी ढंग से कैसे लड़ा जा रहा है।

डॉ. जितेंद्र सिंह ने सभी से निष्कर्ष पर पहुंचने और ऐसी सार्वजनिक टिप्पणी करने से पहले तथ्यों की जांच करने की भी अपील की, जो समाज में दहशत पैदा करते हैं।

News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!