13 C
New Delhi
Sunday, January 24, 2021

नये किसान कानूनों के अमल पर रोक, कोर्ट ने समिति बनाई

नई दिल्ली: किसानों के चल रहे लंबे आंदोलन को खत्म करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दूसरे दिन की बहस के बाद नये कृषि कानूनों को अमल में लाने से रोक दिया और चार विशेषज्ञों की कमेटी बना दी। हालांकि किसान संगठन हटने को तैयार नहीं है।

कल ही दी थी चेतावनी

शीर्ष अदालत ने कल ही कहा था कि अगर सरकार ने कृषि कानूनों के अमल पर रोक नहीं लगाई तो वो खुद इसे स्थगित कर देगा और यही हुआ भी। इससे सरकार को यह फायदा हुआ कि अब यह कह सकती है कि जब देश में कृषि कानून लागू ही नहीं है तो किसान आंदोलन की जरूरत क्या? यानी अब किसान आंदोलन से सरकार का कोई लेनादेना नहीं रह गया। केवल आंदोलन स्थल पर शांति और सुरक्षा बनाए रखने की ​जिम्मेदारी जरूर है।

Advertisement

बना दी कमेटी

कोर्ट ने इन कानूनों पर चर्चा के लिए एक समिति का गठन भी किया है। समिति ने हरसिमरत मान, कृषि अर्थशास्त्री अशोक गुलाटी, डॉ प्रमोद कुमार जोशी (पूर्व निदेशक राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंधन), अनिल धनवत के नाम कमिटी के सदस्य के तौर पर सुझाए हैं। यह टीम किसान नेताओं से बात कर अपनी राय कोर्ट को देगी।

Advertisement

किसान फैसले से खुश नहीं

हालांकि किसान संगठनों के नेता इस फैसले और समिति गठन से खुश नहीं हैं। राकेश टिकैत ने साफ कहा कि समिति के सदस्य तो इन कानूनों के ही निर्माता हैं सो वे कितना न्याय कर पायेंगे। किसान संगठन इन कानूनों की वापसी से कम नहीं चाहते।

अजय वर्मा
अजय वर्मा
समाचार संपादक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!