20.1 C
New Delhi
Thursday, February 29, 2024
-Advertisement-

रेल टिकट में नहीं चलेगी दलालों की मनमानी, RPF ने रियल मैंगो सॉफ्टवेयर को किया नाकाम

नई दिल्लीः रेल यात्री सेवाओं को फिर से शुरू किए जाने के बाद दलाली गतिविधियों में बढ़ोतरी की आशंका को देखते हुए भारतीय रेलवे ने दलालों के खिलाफ अभियान तेज कर दिया है। इसी क्रम में रेलवे सुरक्षा बल (RPF) ने ‘रियल मैंगो’ सॉफ्टवेयर (Real Mango) के संचालन को नाकाम कर दिया है। रियल मैंगो सॉफ्टवेयर (Real Mango Software) पूरी तरह अवैध था, जिसका इस्तेमाल कन्फ़र्म रेलवे आरक्षण को बेकार करने के लिए किया जाता था।

जानकारी के मुताबिक RPF की फील्ड इकाइयों द्वारा दलालों के खिलाफ शुरू की गई कार्रवाई के दौरान मंगलवार को अवैध सॉफ्टवेयर ‘रेयर मैंगो’(बाद में इसका नाम बदलकर ‘रियल मैंगो’ कर दिया गया) के संचालन का पता चला। उत्तर मध्य रेलवे (NCR), पूर्वी रेलवे (ER) और पश्चिमी रेलवे (WR)की RPF इकाइयों ने कुछ संदिग्धों को पकड़ लिया और उनसे रियल मैंगो सॉफ्टवेयर के संचालन की प्रक्रिया को समझना शुरू कर दिया। अवैध सॉफ्टवेयर के काम करने के व्यवस्थित तरीकों को समझने में कई बातें सामने आईं, जो इस प्रकार हैः

Real Mango Software कैसे करता है काम?

  • रियल मैंगो सॉफ्टवेयर V3 और V2 कैप्चा को बायपास करता है।
  • यह मोबाइल ऐप की मदद से बैंक OTP से तालमेल कर लेता है और इसे जरूरी फॉर्म में स्वचालित रूप से फीड कर देता है।
  • यह सॉफ्टवेयर फॉर्म में स्वत:यात्री का विवरण और भुगतान संबंधी विवरणों को भरता है।
  • सॉफ्टवेयर कई IRCTC आईडी के माध्यम से IRCTC की वेबसाइट पर लॉग इन करता है।
  • अवैध सॉफ्टवेयर पांच स्तरीय संरचना के माध्यम से बेचा जाता था, जैसे सिस्टम एडमिन और उनकी टीम, मावेंस, सुपर विक्रेता, विक्रेता और एजेंट।
  • सिस्टम एडमिन बिटकॉइन में भुगतान प्राप्त कर रहा है।

RPF की फील्ड इकाइयों ने Real Mango Software के संचालन में शामिल मुख्य सरगना (सिस्टम डेवलपर) और प्रमुख प्रबंधकों सहित अब तक 50 अपराधियों को पकड़ लिया है और 5 लाख से रुपये से अधिक मूल्य के टिकट जब्त किए हैं। इस अवैध सॉफ्टवेयर के पांच प्रमुख संचालनकर्ताओं को पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया गया है। सॉफ्टवेयर अब पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया गया है।

दिसंबर 2019 से मार्च 2020 के बीच RPF द्वारा समन्वित राष्ट्रव्यापी कार्रवाई का उल्लेख किया जा सकता है,जिसमें 104 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया और ANMS/ Red Mirchi/Black TS, TikTok, I-Ball, Red Bull, MAC, N-GET, Cycle, Star-V2 आदि जैसे कई अवैध सॉफ्टवेयर्स को नाकाम किया गया। RPF द्वारा दी गई सूचना से CRIS / IRCTC को PRS सिस्टम में सुरक्षा सुविधाओं को मजबूत करने में मदद मिली जिसके कारण सॉफ्टवेयर्स ने उस समय काम करना बंद कर दिया।

News Stump
News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system