24 C
New Delhi
Thursday, February 22, 2024
-Advertisement-

Sushant suicide case: रिया चक्रवर्ती पर है बिहार पुलिस की पैनी नज़र

पटना: बिहार पुलिस ने शनिवार को कहा कि बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती पर उसकी निगाह है। वहीं अभिनेत्री के खिलाफ पटना में दर्ज प्राथमिकी को मुंबई स्थानांतरित करने की चक्रवर्ती की याचिका पर पांच अगस्त को उच्चतम न्यायालय में सुनवाई होगी।

बिहार पुलिस की चार सदस्यीय टीम चक्रवर्ती (28) और छह अन्य के खिलाफ पटना में दर्ज प्राथमिकी की जांच के लिए मुंबई में है। राजपूत के पिता की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गई। कृष्ण कुमार सिंह (74) ने अपने बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाने की शिकायत दर्ज कराई थी।

बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि राज्य पुलिस फोरेंसिक साइंस की रिपोर्ट, कानूनी जांच रिपोर्ट, पोस्टमार्टम रिपोर्ट और संबंधित सीसीटीवी फुटेज चाहती है ताकि मामले की जांच हो सके।

राजपूत की गर्लफ्रेंड चक्रवर्ती से पूछताछ के बारे में एक अधिकारी ने कहा, ‘‘अभी तक इसकी जरूरत नहीं है। लेकिन हमारी उस पर नजर है।’’

जांच दल में शामिल एक सदस्य ने कहा कि सीआरपीसी की संबंधित धाराओं के तहत उन्होंने चक्रवर्ती को नोटिस भेजा है। मुंबई पुलिस मामले की जांच में उनका सहयोग कर रही है।

अधिकारी ने बताया, ‘‘अभी तक बिहार की पुलिस ने अभिनेता के दोस्तों, सहकर्मियों और रिश्तेदारों से मुलाकात की है। उन्होंने छह लोगों वर्सोवा में रहने वाली राजपूत की बहन, पूर्व महिला मित्र अंकिता लोखंडे, एक रसोईया, उनके दोस्त और सहकर्मियों के बयान दर्ज किए हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने राजपूत के विभिन्न बैंक खातों की जानकारी जुटाई और वित्तीय लेन-देन देखने के लिए बैंक भी गए।’’

उच्चतम न्यायालय की वेबसाइट पर अपलोड सूची के मुताबिक प्राथमिकी स्थानांतरित करने की चक्रवर्ती की तरफ से दायर याचिका पर बुधवार को न्यायमूर्ति हृषिकेश रॉय की पीठ के समक्ष सुनवाई होगी।

चक्रवर्ती की याचिका पर कोई भी आदेश पारित होने से पहले अपना पक्ष सुने जाने के लिए उच्चतम न्यायालय में बिहार और महाराष्ट्र की सरकारों ने पहले ही अलग से कैविएट दायर कर रखा है। दिवंगत अभिनेता के पिता ने भी उच्चतम न्यायालय में कैविएट दायर किया हुआ है।
कैविएट एहतियातन कानूनी कार्रवाई होती है जिसमें सुनिश्चित किया जाता है कि दूसरे पक्ष की सुनवाई किए बगैर पहले पक्ष के समर्थन में फैसला नहीं सुनाया जाए।

चक्रवर्ती ने उच्चतम न्यायालय में दायर याचिका में आरोप लगाया है कि राजपूत के पिता ने अपने प्रभाव का ‘‘इस्तेमाल’’ कर उनका नाम मामले में घसीट दिया और अपने बेटे की आत्महत्या के लिए हम पर आरोप लगा रहे हैं।

डीजीपी ने कहा कि मुंबई पुलिस द्वारा बिहार पुलिस के साथ दुर्व्यवहार के आरोप ‘‘अफवाह’’ हैं। पांडेय ने कहा कि स्थानीय पुलिस ने दौरे पर गई पुलिस को महानगर में जांच के लिए अलग-अलग स्थानों पर जाने में सहयोग दिया।

Read also: सुशांत, सुसाइड और सियासत! बोले सुशिल मोदी- लोगों को बचा रहें उद्धव ठाकरे