24 C
New Delhi
Sunday, February 25, 2024
-Advertisement-

अमेरिका ने बना ली Corona Vaccine! डॉक्टर का दावा- अक्टूबर से लगेगी इंसानों को

नई दिल्ली: कोरोना को लेकर अमेरिका से मिले ताजा डेवलपमेंट के अनुसार USA ने अक्टूबर की शुरूआत में अपने सभी राज्यों में कोविड-19 की वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) के लिए तैयार रहने को कहा है। कुछ ही हफ्ते पहले रूस ने अपने नागरिकों पर कोविड-19 की वैक्सीन का प्रयोग किया था।

अमेरिका में COVID-19 Vaccine ह्यूमन ट्रायल ​के तीसरे स्टेज पर

COVID-19 पर काम कर रहे एक अमेरिकी डॉक्टर ने नाम नहीं बताए जाने की शर्त पर News Stump को टेलीफोन पर बताया कि तीन प्रमुख कंपनियां ‘मोडेरना’ (Moderna), बायोन्टेक एवं फाइजर (BioNTech and Pfizer) और एस्ट्रेजेनेका आक्सफोर्ड (AstraZeneca Oxford) हैं। इन तीनों ही कंपनियों की कोविड-19 की वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) ह्यूमन ट्रायल ​के तीसरे स्टेज पर हैं।

अमेरिकी सरकार का निर्णय, नागरिकों को लगाया जाये Corona vaccine

उन्होंने बताया कि अमेरिकी सरकार ने निर्णय लिया है कि तीसरे स्टेज पर ह्यूमन ट्रायल के उत्साहवर्धक परिणामों को देखते हुए इन वैक्सीन को सीधे नागरिकों को लगाया जाये। इसके लिए कंपनियों द्वारा तैयार की जा रही कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccine in america) अमेरिका के राज्यों में वितरित किया जाये।

Moderna और BioNTech and Pfizer की वैक्सीन का नागरिकों पर किया जाये प्रयोग

डॉक्टर के अनुसार, यह पूरी संभावना है कि तीनों में से ‘मोडेरना’ (Moderna) और ‘बायोन्टेक एवं फाइजर’ (BioNTech and Pfizer) द्वारा तैयार की जा रही वैक्सीन का नागरिकों पर प्रयोग किया जा सकता है। इन दोनों कंपनियों की वैक्सीन को रखने के लिए काफी कम तापमान की जरूरत पड़ती है। इसलिए अमेरिका में कोरोना के मामलों की देखरेख कर रहे समूह ‘CPC’ ने देश के सभी राज्यों को सतर्क रहने के लिए कहा है।

अमेरिका में COVID-19 से सबसे अधिक लोग संक्रमित हुए

गौरतलब है कि अमेरिका में कोविड-19 से सबसे अधिक लोग संक्रमित हुए है और सबसे अधिक लोगों की मौत हुई है।

Read also: कोरोना: अमीरों के लिए अवसर, नेताओं के लिए राजनीति और गरीबों के लिए रोना

COVID-19 Vaccine को लेकर ट्रंप सरकार पर है काफी दबाव

सूत्रों के अनुसार, अमेरिका की ट्रंप सरकार पर आगामी राष्ट्रपति चुनावों को देखते हुए COVID-19 vaccine को लेकर काफी दबाव है। शायद यह सबसे बड़ा कारण है कि अमेरिकी सरकार ने रूस की तर्ज पर तीसरे स्टेज पर पहुंच गयी वैक्सीन को अपने देश के नागरिकों को लगाने का निर्णय किया है।

अमेरिका की मदद के लिए भारत ने हटाया था Hydroxychloroquine से प्रतिबंध

यहां देखने वाली बात यह होगी कि अब अमेरिका भारत को COVID-19 Vaccine कब तक और कितनी देता है। भारत ने कारोना वायरस से निपटने में अमेरिका की मदद के लिए मई की आरंभ में हाइड्रोक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) पर से प्रतिबंध हटा दिया था।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने Coronavirus के खिलाफ लड़ाई में भारत-अमेरिका साझेदारी की पूरी ताकत का उपयोग करने का संकल्प लिया था।

दीपक सेन
दीपक सेन
मुख्य संपादक