32.1 C
New Delhi
Saturday, July 24, 2021

5 साल बाद फिर से जनता के दरबार में मुख्यमंत्री नीतीश, फरियादियों की उमड़ी भीड़

पटनाः जनता की फरियाद को सीधे सूनने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अति सराहनीय कार्यक्रम जनता के दरबार में मुख्यमंत्री आज से फिर शुरु हो गया है। 5 साल के लंबे गैप के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज से जनता दरबार में मौजूद हैं। दोबारा शुरु हुए इस जनता दरबार में बड़ी तादाद में फरियादियों की भीड़ पहुंची है। इस जनता दरबार में मुख्यमंत्री तकरीबन ढाई सौ लोगों की फरियाद सुनेंगे। जनता दरबार में फरियादियों के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है।

कोरोना काल में इस आयोजन की शुरुआत हो रही है, लिहाजा इसके लिए बड़े स्तर पर तैयारी की गई है। फरियाद करने पहुंचने वाले लोगों आरटी-पीसीआर टेस्ट भी कराया गया है। पहले इस कार्यक्रम का आयोजन मुख्यमंत्री आवास एक अणे मार्ग में होता था, लेकिन अब यह मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित राजकीय अतिथि शाला से सटे 4 केजी में किया जाएगा। पूरा आयोजन सोशल डिस्टेंसिंग के तहत किया जा रहा है। जनता दरबार में प्रवेश करने के लिए तीन मेटल डिटेक्टर डोर लगाए गए हैं।

Advertisement

जनता दरबार में आने वाले फरियादियों की समस्याओं को मुख्यमंत्री सुनेंगे और तुरंत अधिकारियों को उसका निदान करने के लिए कहेंगे। लेकिन खास बात यह है कि अब जो फरियादी मुख्यमंत्री जनता दरबार कार्यक्रम में पहुंचेंगे उनकी शिकायतों के बारे में अधिकारियों को पहले से मालूम होगा। फरियादी जिस से जिले से है उस जिले के अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। ऐसे में मुख्यमंत्री के पास फरियाद पहुंचने के पहले अधिकारियों को इस बात की जानकारी हो जाएगी कि आखिर शिकायत करने वाला किस मामले को लेकर जनता दरबार में जा रहा है।

Advertisement

आपको बता दें कि 5 साल के एक लंबे अंतराल के बाद जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम शुरू हुआ है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीते साल विधानसभा चुनाव के बाद जब शपथ लिया था तभी इस बात के संकेत दिए थे कि जनता दरबार कार्यक्रम फिर से शुरू किया जाएगा। बिहार में लोक शिकायत निवारण कानून लागू होने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने जनता दरबार कार्यक्रम को स्थगित कर दिया था लेकिन अब एक बार फिर से मुख्यमंत्री जनता के दरबार में मौजूद हैं।

News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!