राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 10 अनमोल विचार, जो बदल सकते हैं आपकी सोच

नई दिल्लीः आज पुरा देश सत्य और अहिंसा के पूजारी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 152वीं जयंती मना रहा है। ऐसे में उनके विचारों को जानना हम सब के लिए बेहद जरूरी है। उनके विचार आज भी जिंदा हैं और प्रासंगिक भी। इंसान अगर उनके विचारों को आत्मसात कर ले, तो जीवन निश्चित हीं शुखमय हो जाएगा।

पढ़ीए महात्मा गांधी के 10 अनमोल विचार

  1. व्यक्ति अपने विचारों के सिवाय कुछ नहीं है। वह जो सोचता है, वह बन जाता है।
  2. कमजोर कभी क्षमाशील नहीं हो सकता है। क्षमाशीलता ताकतवर की निशानी है।
  3. ताकत शारीरिक शक्ति से नहीं आती है। यह अदम्य इच्छाशक्ति से आती है।
  4. धैर्य का छोटा हिस्सा भी एक टन उपदेश से बेहतर है।
  5. गौरव लक्ष्य पाने के लिए कोशिश करने में हैं, न कि लक्ष्य तक पहुंचने में।
  6. आप जो करते हैं वह नगण्य होगा। लेकिन आपके लिए वह करना बहुत अहम है।
  7. हम जो करते हैं और हम जो कर सकते हैं, इसके बीच का अंतर दुनिया की ज्यादातर समस्याओं के समाधान के लिए पर्याप्त होगा।
  8. किसी देश की महानता और उसकी नैतिक उन्नति का अंदाजा हम वहां जानवरों के साथ होने वाले व्यवहार से लगा सकते हैं।
  9. कोई कायर प्यार नहीं कर सकता है; यह तो बहादुर की निशानी है।
  10. बापू ने कहा कि स्वास्थ्य ही असली संपत्ति है, न कि सोना और चांदी।

News Stump
News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system