32.1 C
New Delhi
Saturday, July 24, 2021

बिहार की सियासत में पर्दे के पीछे चल रहा बड़ा खेल, मांझी और सहनी लालू के प्रभाव में

पटनाः बिहार के सियासत में पर्दे के पीछे कुछ बड़ा खेल चल रहा है। नीतीश सरकार की सहयोगी पार्टियां धीरे-धीरे NDA से दूर जाने का संकेत दे रही हैं। ताजा मामला HAM प्रमुख जीतन राम मांझी और VIP चीफ मुकेश सहनी की RJD सुप्रीमों लालू यादव से बढ़ती नजदीकियों से जुड़ा है। पहले मांझी ने जन्मदिन के बहाने लालू से टेलिफोनिक बात कर सियासी पारा बढ़ा दिया और अब बिहार सरकार मंत्री मुकेश सहनी ने लालू से फोन पर बातचीत करने के बाद उसके मायने को पर्दे में रहने दो कहकर NDA में हलचल मचा दी है।

12 मिनट तक चली लालू और मांझी की सियासी गुफ्तगु

बता दें शुक्रवार को लालू के 74वें जन्मदिन पर तेजप्रताप यादव मुलाकात के लिए अचानक जीतन राम मांझी के घर पहुंचें। इस मुलाकात के दौरान बंद कमरे में तेजप्रताप ने मांझी की बात लालू प्रसाद यादव से कराई। लालू यादव और जीतन राम मांझी की सियासी गुफ्तगु लगभग 12 मिनट तक चली।

Advertisement

मांझी के लिए खुले हैं महागठबंधन के दरवाजे- तेजप्रताप

इस मुलाकात के बारे में मांझी कुछ भी कहने से बचते रहे, लेकिन तेजप्रताप यादव से पूछा गया तो उनका सीधा-सीधा कहना था कि मैंने मांझी जी को कहा, “मन डोल रहा है, तो आ जाइए। महागठबंधन के दरवाजे आपके लिए खुले हैं।”

Advertisement

लालू यादव बड़े नेता, मौका मिला तो जरूर करूंगा मुलाकात- सहनी

अभी मांझी और लालू की सियासी गुफ्तगु के मायने ही तलाशे जा रहे थे कि सूचना मिली कि मुकेश सहनी की भी लालू से फोन पर बात हुई है। जब मीडिया ने उनसे लालू से बात-मुलाकात के बारे में पूछा तो सहनी ने कहा, “लालू यादव बड़े नेता हैं, यदि मौका मिला तो जरूर मुलाकात करूंगा”। हालांकि, फोन पर बात को लेकर उन्हों ने साफ कहा-इसे पर्दे में ही रहने दें।

जीतन राम मांझी ने बांका की एक घटना पर दी थी BJP को नसीहत

गौरतलब है कि हाल ही में NDA की सहयोगी HAM प्रमुख जीतन राम मांझी ने बांका की एक घटना पर BJP को नसीहत दी थी, जिस पर BJP ने भी पलटवार किया था। उसके बाद सहनी ने बिना नाम लिए बीजेपी नेताओं को अनावश्यक बयानबाजी की बजाय जनता से किए 19 लाख के रोजगार पर काम करने की सलाह दी है। सहनी ने ट्वीट कर कहा, ‘एनडीए गठबंधन के साथीगणों से अनुरोध है कि अनावश्यक बयानबाजी से बचें एवं हम सब मिलकर बिहार की जनता से किए गए 19 लाख रोजगार के वादे पर काम करें।’

Read also: NDA में जीतन राम मांझी का दूध भात, BJP नेता ने पूर्व सीएम को अदब से बताई औकात

Read also: मोदी ब्रांड हुआ फीका!, अब संघ के नए फार्मूले पर चुनाव लड़ेगी भाजपा

बहरहाल यह सियासत है, यहां कब क्या हो जाए इसका अंदाजा लगाना आसान नहीं। लेकिन जिस तरह से NDA के सहयोगी लालू यादव के आस-पास मंडराते नज़र आ रहे हैं, यह कहना गलत नहीं कि बिहार के सियासी रंगमंच पर पर्दे के पीछे कुछ बड़ा खेल चल रहा है।

Read also: सराहनीयः कोरोना ने छीना मां-बाप का साथ, तो गहलोत सरकार ने थामा अनाथों का हाथ

News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!