24.1 C
New Delhi
Thursday, February 29, 2024
-Advertisement-

कंगना से उलझ कर अकेले पड़े उद्धव ठाकरे, सहयोगी दलों ने दिखाया आईना

मुंबईः कंगना रनौत के दफ्तर पर बुधवार को BMC की कार्रवाई के बाद महाराष्ट्र की सियासत में भुचाल आ गया है। कंगना के प्रति जनता का लगाव और सिंपैथी देखकर शिवसेना की सहयोगी पार्टियों ने भी BMC के इस हरकत पर आपत्ति दर्ज करानी शुरू कर दी है। कांग्रेस के संजय निरूपम से लेकर NCP के शरद पवार तक ने इस कार्रवाई की आलोचना की है और उद्धव ठाकरे को आईना दिखाया है।

BMC की कार्रवाई पर कांग्रेस नेता संजय निरूपम का बयान

कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने BMC की कार्रवाई को प्रतिशोधात्मक मानते हुए कहा, ‘कंगना का ऑफिस अवैध था या उसे डिमॉलिश करने का तरीका? क्योंकि हाई कोर्ट ने कार्रवाई को गलत माना और तत्काल रोक लगा दी। पूरा एक्शन प्रतिशोध से ओत-प्रोत था। लेकिन बदले की राजनीति की उम्र बहुत छोटी होती है। कहीं एक ऑफिस के चक्कर में शिवसेना का डिमॉलिशन न शुरू हो जाए।’

Read also: बोली कंगना रनौत- सिर्फ अयोध्या पर ही नहीं, कश्मीर पर भी बनाउंगी फिल्म

BMC की कार्रवाई को संदेहात्मक- शरद पवार

कंगना के बांद्रा वेस्ट के पाली हिल रोड पर स्थित दफ्तर पर BMC की कार्रवाई को संदेहात्मक बताते हुए NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा, ‘मौजूदा स्थिति में इस तरह की कार्रवाइयां लोगों के मन में संदेह पैदा करती हैं। कार्रवाई करने से उन्हें बोलने का मौका मिला है। यह जांचने की जरूरत है कि BMC ने अब कार्रवाई क्यों की।’

Read also: Kangana Vs Uddhav: ‘आज मेरा घर टूटा है, कल उद्धव ठाकरे का घमंड टूटेगा’- कंगना

इसके अलावा शरद पवार ने कंगना रनौत का नाम लिए बगैर कहा कि उनके बयानों को अनुचित महत्व दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम ऐसे बयान देने वालों को अनुचित महत्व दे रहे हैं। हमें देखना होगा कि लोगों पर इस तरह के बयानों का क्या प्रभाव पड़ता है। मेरी राय में लोग ऐसे बयानों को गंभीरता से नहीं लेते हैं।

कंगना और शिवसेना नेता संजर राउत के बीच कई दिनों से छिड़ी है जुबानी जंग

बता दें पिछले कुछ दिनों से कंगना रनौत और शिवसेना दोनों आमने-सामने हैं। कंगना रनौत ने जहां शोसल माडिया प्लेटफॉर्म पर आकर शिवसेना के खिलाफ मोर्चा खोल दिया, वहीं शिवसेना के नेताओं ने भी प्रतिक्रिया में एक के बाद के कई अमर्यादित टिप्पणियां की।

News Stump
News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system