नये संसद भवन बनने का रास्ता साफ, सुप्रीम कोर्ट ने दी मंजूरी

नई दिल्ली: नया संसद भवन बनाने का रास्ता सुप्रीम कोर्ट ने साफ कर दिया है। उसने इस बारे में दायर एक याचिका को खारिज करते हुए यह फैसला दिया लेकिन पर्यावरण मंजूरी और भूमि उपयोग में बदलाव की अधिसूचना को बरकरार रखा है।

दो साल में हो जायेगा तैयार

दरअसल इस प्रोजेक्ट पर विरोधियों ने हाय तौबा मचाते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली थी। संसद का नया भवन सेंट्रल विस्टा परियोजना का हिस्सा है जो दो साल में तैयार हो जायेगा। इसके निर्माण पर करीब 900 करोड़ की लागत आ रही है। इसका ठेका टाटा ग्रुप को मिला है। यह इमारत अगले 200 वर्षों के लिए होगी। आजादी के 75 वें वर्ष से पहले यह तैयार हो जायेगा और संसद की बैठक नए भवन में बुलाई जाएगी।

Advertisement

ज्यादा सांसद बैठ सकेंगे

नये संसद भवन की डिजायन विजय नगर मंदिर जैसी होगी जबकि अभी का भवन 64 योगिनी मंदिर की तरह है। नये भवन में लोकसभा में 888 और राज्यसभा में 384 सांसद बैठ सकेंगे। यह आधुनिक और हाईटेक होगा। इसके परिसर में 1244 सांसदों के लिए आवास भी होगा।

Advertisement

अजय वर्मा
समाचार संपादक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here