20.7 C
New Delhi
Saturday, March 2, 2024
-Advertisement-

सब्जी वालों की गुहार- खुल गए बाजार, अब हम पर भी रहम करो सरकार

रोहतासः लॉकडाउन की घोषणा के बाद विस्थापित की गई सब्जी दुकानों को पुनः मूल स्थान पर वापस लाने के लिए दुकानदारों ने नोखा प्रशासन से गुहार लगाई है। उनका कहना है कि कोरोना के मद्यदेनज़र विस्थापन का फैसला सराहनीय था, लेकिन अब प्राशासन को चाहिए की वह हमें बाजार में दुकान लगाने की आदेश जारी करे। यहां स्थिति बद से बदतर होती जा रही है, जो दुकानदारों के साथ ही ग्राहकों के लिए भी कष्टदायक है।

दुकानदारों का कहना है कि अनलॉक के साथ बाजार की लगभग सभी दुकानें खुल गई हैं, लेकिन सब्जी दुकानों पर कोई विचार नहीं किया जा रहा। उनका कहना है कि लॉकडाउन हटने के बाद जिस तरह से बाजार की अन्य दुकानों को क्रमबद्ध तरीके से खोला जा रहा है, प्रशासन को हमें भी बाजार में शिफ्ट होने देना चाहिए।

उन्होंने ने बाजार समिति में सब्जी दुकानों के लिए चिन्हित स्थान की कुव्यवस्था का हाल दिखाते हुए कहा कि हल्की बारिश की वजह से पुरी मंडी में कीचड़ भर गया है, जिसकी वजह से दुकानदारों के साथ-साथ ग्रांहको को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दुकानदारों का कहना है कि हम लोग प्रशासनिक आदेश को महत्व देते हैं और कोरोना संकट के बीच क्षमतानुसार हर तरह से प्रशासन को सहयोग देने के लिए तैयार हैं, लेकिन प्रशासन को हमारी कोई फिक्र नहीं।

इधर नगर अध्यक्ष पम्मी वर्मा से इस बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि वे दुकानदारों और ग्राहकों की पीड़ा को समझती हैं, लेकिन इस बारे में कुछ नहीं कर सकती। यह फैसला लेना जिलाप्रशासन के क्षेत्राधिकार में आता है। जब तक जिलाधिकारी की तरफ से आदेश निर्गत नहीं किया जाता, तब तक दुकानों को वापस उनके मूल स्थान पर नहीं लाया जा सकता। उन्होंने आदेश की अवहेलना करने वाले दुकानदारों को शख्त हिदायत देते हुए कहा कि जो लोग सरकारी आदेश की अवहेलना कर रहे हैं वे लोग किसी भी अप्रिय परिस्थिति के लिए स्वयं जिम्मेदार होंगे। जरूरत पड़ी तो उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

आपको बता दें कोरोना संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने के उद्देश्य से स्थानीय प्रशासन ने इन सभी दुकानों को बाजार समिति में शिफ्ट कर दिया है। तब से लेकर आब तक सभी दुकानें वहीं स्थित हैं और प्रशासन के अगले आदेश की बाट जोह रही हैं। हालांकि कुछ दुकानदार प्रशासनिक आदेश को ठेंगा दिखाकर जबरन आपने मुल स्थान पर लौट आए हैं, लेकिन बहुतायत दुकाने अब भी वहीं हैं।

Read also: नोखा नगर पंचायत के इस व्हाट्सएप नंबर पर करें शिकायत, तत्काल होगी सुनवाई