26.1 C
New Delhi
Sunday, September 19, 2021

वरिष्ठ पत्रकार और जाने-माने राजनीतिक विश्लेषक शेष नारायण सिंह की कोरोना से मौत

नई दिल्लीः कोरोना की दूसरी लहर देश ने देश के प्रतकारिता जगत को अंदर तक झकझोर कर रख दिया है। एक के बाद एक कई पत्रकार साथी इसके शिकार हो चुके हैं। वरिष्ठ पत्रकार और राजनीतिक मामलों के विशेषज्ञ शेष नारायण सिंह आज काल कलवित हो गएं। 75 साल के शेष नारायण सिंह की कारोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें नोएडा के एक निजि अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में प्लाज़्मा थैरेपी समेत कई विधियों से उनकी जीवन रक्षा की कोशिश की गई लेकिन सब बेकार साबित हुईं।

Advertisement

शेष नारायण सिंह की खराब तबियत की ख़बर के बाद जहां उनके चाहने वाले उन्हें बचाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक चुके थे, वहीं उनके निधन की ख़बर ने सबको स्तब्ध कर दिया है। शेष जी के निधन की सूचना के बाद सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलियों का ताँता लगा हुआ है।

Advertisement

प्राधनमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया,’वरिष्ठ पत्रकार शेष नारायण सिंह जी का निधन अत्यंत दुखद है। पत्रकारिता जगत में अपने महत्वपूर्ण योगदान के लिए वे हमेशा जाने जाएंगे। दुख की इस घड़ी में उनके परिजनों के लिए मेरी संवेदनाएं। ओम शांति’!

Advertisement

शेष नारायण सिंह के निधन पर वरिष्ठ पत्रकार किशोर आजवाणी ने ट्वीट कर शोक जताया है। किशोर ने लिखा, ‘RIP@ शेषजी आपसे बहुत कुछ सीखा! राजनीति, व्याकरण, साहित्य, कितनी बातें होतीं थीं हमारे मॉर्नींग कॉल्स में’।

बता दें कोरोना की इस दूसरी लहर नें देश के पत्रकारिता जगत को मातमी सन्नाटे की तरफ ठकेल दिया है। RNI के असिसटेंट प्रेस रजिस्ट्रार पुष्वंत शर्मा हों या आज तक के जाने जाने माने न्यूज़ एंकर रोहित सरदाना कई लोग इसके शिकार हो चुके हैं। अभी कुछ दिन पहले पटना के जाने माने पत्रकार सुनील पांण्डेय भी इसके शिकार हो गए। इन सब के अलावें अभी कई और नाम हैं, जो निर्दयी कोरोना की वजह से असमय ही काल की गाल में समा गए।

News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!