32.1 C
New Delhi
Saturday, July 24, 2021

COVID-प्रभावित विश्व में आशा की किरण बना हुआ है योग: प्रधानमंत्री मोदी

नई दिल्लीः covid-प्रभावित विश्व में योग आशा की किरण बना हुआ है। अंग्रिम पंक्ति के कोरोना योद्धाओं ने योग को अपना सुरक्षा कवच बनाया। यह कहना है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का। प्रधानमंत्री ने ये बातें सातवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने महामारी के दौरान योग की भूमिका के संदर्भ में कहा कि इस कठिन समय में योग लोगों के लिए एक शक्ति और आत्मविश्वास का साधन सिद्ध हुआ है। उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान देशों के लिए योग दिवस को भूलना आसान था क्योंकि यह उनकी संस्कृति का आंतरिक अंग नहीं है, परन्तु इसके विपरीत, विश्व स्तर पर योग के प्रति उत्साह में वृद्दि हुई है।

प्रधानमंत्रे ने कहा कि प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करने में दृढ़ता,योग के प्रमुख घटकों में से एक है। जब महामारी से सामना हुआ तो कोई भी क्षमताओं, संसाधनों या मानसिक रूप से इसके लिए तैयार नहीं था। योग ने लोगों को विश्व भर में महामारी से लड़ने के लिए आत्मविश्वास और क्षमता बढ़ाने में सहायता की।

Advertisement

प्रधानमंत्री ने बताया कि कैसे अंग्रिमपक्ति के कोरोना योद्धाओं ने योग को अपना सुरक्षा कवच बनाते हुए योग के माध्यम से स्वयं को मजबूत किया। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों और नर्सों ने भी वायरस के प्रभावों से निपटने के लिए योग को अपनाया। अस्पतालों में चिकित्सकों और नर्सों द्वारा आयोजित योग सत्रों के उदाहरण हर जगह दिखाई दिए। प्रधानमंत्री ने उल्लेख किया कि विशेषज्ञ हमारे श्वसन तंत्र को मजबूत करने के लिए प्राणायाम और अनुलोम-विलोम जैसे श्वसन से संबंधित व्यायाम के महत्व पर बल दे रहे हैं।

Advertisement

News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!