भारत और मलेशिया के रक्षा मंत्रियों की वार्ता, दोनों ने रक्षा सहयोग बढ़ाने का लिया निर्णय

नई दिल्लीः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को मलेशिया के वरिष्ठ रक्षा मंत्री वाईबी दातो ‘सेरी हिसामुद्दीन तुन हुसैन’ के साथ के वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से वार्ता की। बैठक के दौरान द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और रक्षा औद्योगिक सहयोग से संबंधित कई मुद्दों पर चर्चा की गई।

रक्षा मंत्री ने दातो ‘सेरी हिसामुद्दीन तुन हुसैन’ को अगस्त, 2021 में वरिष्ठ रक्षा मंत्री का पद संभालने के लिए बधाई दी। दोनों रक्षा मंत्रियों ने पहले से ही मजबूत भारत-मलेशिया रक्षा सहयोग को और आगे बढ़ाने की इच्छा प्रकट की।

दोनों नेताओं ने मौजूदा मलेशिया-भारत रक्षा सहयोग बैठक (मिडकॉम) ढांचे के तहत वर्तमान रक्षा सहयोग गतिविधियों तथा रक्षा तंत्र को और मजबूत बनाने के तरीकों पर विचार-विमर्श किया। अगला मिडकॉम जुलाई 2022 में आयोजित होने वाला है और रक्षा क्षेत्र में गहन भागीदारी के लिए इस मंच का उपयोग करने का निर्णय लिया गया।

राजनाथ सिंह ने उन क्षेत्रों पर प्रकाश डाला, जिनमें भारतीय रक्षा उद्योग मलेशिया की सहायता कर सकते हैं। उन्होंने भारतीय रक्षा उद्योग की सुविधाओं और उत्पादों का प्रत्यक्ष अनुभव प्राप्त करने के लिए मलेशिया के वरिष्ठ अधिकारियों को भारत यात्रा का सुझाव दिया।

मलेशियाई वरिष्ठ रक्षा मंत्री ने शांति मिशन में महिला कर्मियों को शामिल करने की आवश्यकता जताई। दोनों पक्ष इस मुद्दे पर एक-दूसरे की सहायता करने पर सहमत हुए। मानवीय सहायता एवं आपदा राहत (HDR) संचालन के लिए क्षमता को उन्नत करने पर भी सहमति हुई।

रक्षा मंत्री ने करीबी तथा सामरिक रक्षा संबंधों पर चर्चा करने के लिए मलेशिया के वरिष्ठ रक्षा मंत्री को जल्द से जल्द सुविधाजनक तिथि पर भारत आने के लिए आमंत्रित किया।

News Stump
News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system