32.1 C
New Delhi
Saturday, July 24, 2021

Army Hospital R & R की ऐतिहासिक उपलब्धि, 4 साल के बच्चे को अंधा होने से बचाया

नई दिल्ली: आर्मी हॉस्पिटल रिसर्च एंड रेफरल (Army Hospital R & R) ने नेत्र सर्जरी के क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है। आर्मी अस्पतालों के इतिहास में पहली बार चार साल के बच्चे की आंख पर प्लेक ब्राकीथेरेपी की सफल प्रक्रिया पूरी की गई। बच्चा पहले ही कैंसर के कारण अपनी बाईं आंख की रोशनी खो चुका था और अब वह पूरी तरह से अपनी दृष्टि खोने के कगार पर पहुंच गया था। यह सर्जरी स्थानीयकृत रेडिएशन इलाज प्रक्रिया का इस्तेमाल करके की गई।

प्रक्रिया के तहत भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र (BARC) से प्राप्त एक स्वदेशी रूथेनियम 106 प्लेक को आंख में डाला गया। इसे आसपास के ऊतकों को नुकसान पहुंचाए बिना न्यूनतम इनवेसिव सर्जरी करने के लिए इस्तेमाल किया गया।

Advertisement

नेत्र ट्यूमर के उपचार का मुख्य उद्देश्य, सबसे पहले रोगी के जीवन को बचाना फिर आंख को बचाना और बच्चे की अधिकतम दृष्टि को संरक्षित करना था। आर्मी हॉस्पिटल रिसर्च एंड रेफरल इस प्रक्रिया को सफलतापूर्वक करने वाला पहला सशस्त्र बल अस्पताल बन गया है।

Advertisement

नेत्र रोग विशेषज्ञों और ओकुलर ऑन्कोलॉजिस्ट की टीम ने यह ऐतिहासिक प्रक्रिया कर्नल एस. के. मिश्रा, लेफ्टिनेंट कर्नल सोनाली विनय कुमार, लेफ्टिनेंट कर्नल अशोक कुमार और डॉ मनोज सेमवाल के नेतृत्व पूरी की।

News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!