क्या अमेरिका को मिल गई कोरोना वायरस की वैक्सीन !

वॉशिंगटन: अमेरिका ने कोरोना वैक्सीन के लिए फाइजर कंपनी के साथ समझौता किया है. अमेरिका के स्वास्थ्य एवं मानव सेवा विभाग के मंत्री एलेक्स अजार ने बुधवार को बताया कि फाइजर कंपनी कोरोना वैक्सीन के पहले 10 करोड़ खुराक दिसंबर में अमेरिका को उपलब्ध कराएगी। समझौते के तहत अमेरिका कंपनी से अभी टीके की 50 करोड़ खुराक और खरीद सकता है।

फॉक्स न्यूज पर अजार ने कहा कि लेकिन अब उनका सुरक्षित और प्रभावी होना और खाद्य एवं औषधि प्रशासन से उनको मंजूरी मिलना भी आवश्यक है।

फाइजर इंटरनेशनल और बायोएनटेक एसई ने अलग-अलग घोषणा की है कि अमेरिका के स्वास्थ्य एवं मानव सेवा विभाग और रक्षा विभाग ने दोनों कंपनियों द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किए जा रहे टीके को खरीदने के लिए समझौता किया है।

1.95 अरब अमेरिकी डॉलर का करेगा भुगतान

स्वास्थ्य एवं मानव सेवा विभाग के अनुसार, यह समझौता राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ‘ऑपरेशन रैप स्पीड वैक्सीन प्रोग्राम’ के तहत आता है। इस टीका कार्यक्रम के तहत कोविड-19 के एक से अधिक टीके विकसित किए जा रहे हैं। इसका लक्ष्य जनवरी 2021 तक कोविड-19 के टीकों की सुरक्षित और प्रभावी 30 करोड़ खुराक उपलब्ध कराने का है।

इसके तहत सरकार एफडीए की मंजूरी से पहले, टीके के सुरक्षित और प्रभावी घोषित होने से पहले ही उनकी खरीदारी करेगी ताकि उन्हें सभी जरुरी मंजूरी मिलने के बाद लोगों को तुरंत ताकि टीके उपलब्ध कराए जा सकें। दोनों कंपनियों का कहना है कि एफडीए से अनुमति और मंजूरी मिलने के बाद अमेरिका टीके के पहली 10 करोड़ खुराक के लिए कंपनियों को 1.95 अरब अमेरिकी डॉलर का भुगतान करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here