27 C
New Delhi
Thursday, May 6, 2021

वॉट्सऐप हैक कर 100 से अधिक महिलाओं को किया ब्लैकमेल, अब चढ़े पुलिस के हत्थे

फरीदाबादः टेक्नोलॉजी जीवन को जितना आसान बनाती है उतना ही जटिल, निर्भर करता है उसका इस्तेमाल कैसे लोग कर रहे हैं। मामला एक ऐसे हैकर गिरोह से जुड़ा हुआ है, जो महिलाओं और कॉलेज की छात्राओं का वॉट्सऐप हैक करने के बाद उनकी निजी जानकारी जुटाकर उन्हे ब्लैकमेल करता था। NCR  की 100 अधिक महिलाएं अब तक इस गिरोह का शिकार हो चुकी हैं। फिलहाल साइबर क्राइम ब्रांच ने गिरोह का भंडाफोड़ कर दिया है और मुख्य आरोपी सहित तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। गिरोह में और एक महिला भी शामिल है।

मामले का खुलासा NIT की एक छात्रा के साथ फरेब किए जाने के बाद हुआ। दरअस गिरोह ने वॉट्सऐप की चैंटिंग को वायरल करने का डर दिखाते हुए जब NIT की एक छात्रा और उसके जानकारों को ब्लैकमेल करना चाहा तो पीड़िता ने पुलिस को इस बारे में शिकायत कर दी। पुलिस आयुक्त के.के. राव ने इसे गंभीरता से लिया। साइबर सेल प्रभारी निरीक्षक बसंत कुमार की टीम ने इस मामले की गहनता से जांच की। पुलिस ने इस मामले में पलवल के झावर नगर निवासी मनीष जैन, तिगांव की पूजा, व यूपी के बुलंदशहर के गांव कुटवाया निवासी सत्तार खान को गिरफ्तार कर लिया।

Advertisement

इस मामले की जानकारी देते हुए ACP अनिल यादव ने बताया कि गिरोह ने पलवल, फरीदाबाद, गुरुग्राम और दिल्ली की करीब 100 से अधिक महिलाओं को अपने जाल में फंसाकर ब्लैकमेल किया है। गिरोह के सदस्य महिलाओं के वॉट्सऐप को हैक करने के बाद उनकी पर्सनल चैटिंग को वायरल करने के नाम पर ब्लैकमेल कर उनसे रुपये ऐंठते थे। उनका शिकार होने वालों में ज्यादातर कॉलेजों की छात्राएं शामिल हैं। पुलिस ने आरोपियों से वारदात में इस्तेमाल किए गए मोबाइल फोन, सिम कार्ड और कई महिलाओं की पर्सनल जानकारी व तस्वीरें बरामद की हैं।

Advertisement

जानकारी के मुताबिक हैकर सिम पोर्ट करने के लिए फर्जी आधार कार्ड का इस्तेमाल करते थे, जिसमें सत्तार खान नामक एक मोबाइल कम्पनी के प्रमोटर उनकी मदद करता था। गिरफ्तार मुख्य आरोपी मनीष जैन के खिलाफ पलवल, गुरुग्राम, दिल्ली में भी इसी तरह की वारदातों के कई मामले दर्ज हैं। पूछताछ में यह बात सामने आई कि गिरोह में शामिल ये लोग स्कूल या कॉलेज के लड़कों से दोस्ती करके लड़कियों के मोबाइल नंबर हासिल कर लेते थे। उसके बाद फर्जी मोबाइल नंबरों से उन्हें कॉल कर धोखाधडी से उनके वॉट्सऐप चैट को हैक कर लिया जाता था। कुछ लड़कियां उनके दवाब में आकर उनके बताए अकांउट में पैसे डलवा देती थीं।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने कुछ नंबर को जारी करते हुए आगाह किया है कि अगर किसी को आरोपियों ने 9971471819, 7419171776, 9319130978 नंबर से ब्लैकमेल किया है, तो वे अपनी शिकायत संबंधित थाना पुलिस को दे सकते हैं।

Avatar
News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!