24 C
New Delhi
Thursday, February 22, 2024
-Advertisement-

राजद से सांठगांठ का भेद खुला तो नया नारा उछाला लोजपा ने

पटना: लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान लगातार सुर बदल रहे हैं। एनडीए के सीएम फेस नीतीश कुमार को बार—बार जेल भेजने की धमकी तो दे ही रहे हैं, खुद को मोदी का हनुमान कह रहे लेकिन तेजस्वी से सांठगांठ की पोल—पट्टी खुल जाने के बाद उसे अब खाई भी बताने लगे हैं।

तेजस्वी से मिलीभगत का आरोप

चिराग चाहे कुछ कह लें, सीन बता रहा है कि वे बीजेपी के साथ होने की बात कहकर भी राजद से मिलकर काम कर रहे हैं। जदयू यह आरोप लगा रहा है। जदयू की नजर में लोजपा वोटकटवा है। वे हाजीपुर के राघोपुर का उदाहरण दे रहे हैं जहां से भी चिराग ने बीजेपी के खिलाफ प्रत्याशी उतारे हैं। वहां राजद के तेजस्वी यादव उम्मीदवार हैं।

चिराग अब डैमेज कंट्रोल में जुटे

जदयू ही नहीं, जीतनराम मांझी भी चिराग की पोल खोल रहे हैं। उनका भी कहना है कि एनडीए प्रत्याशी को हराने के लिए लालू परिवार से मिल गये हैं। इसके बाद बैकफृट पर आये चिराग पासवान ने फिर से नया दांव खेला है। सोमवार को उन्होंने नया नारा दिया…”नीतीश कुआँ तो तेजस्वी खाई-लोजपा-भाजपा सरकार बनाई”। मतलब साफ है कि चिराग पासवान समझ गए हैं कि हमारे गुप्त मिशन की पोल खुल गई है। इसलिए नया नारा देकर अपने को बचाने का प्रयास किया।

चिराग तेजस्वी का राजनीतिक सहवाला : जदयू

सूचना एवं जन-संपर्क मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान आज की तारीख में 420 के आरोपी तेजस्वी यादव के राजनीतिक सहवाला बने फिर रहे हैं। उनकी राजनीति का डीएनए तेजस्वी से मेल खाता है, यह राघोपुर में साबित हो गया है। अब वह खुलकर तेजस्वी यादव की वकालत करने में मशगूल हैं।

अजय वर्मा
अजय वर्मा
समाचार संपादक