बड़ा सवाल, सत्ता से वैराग्य हुआ क्या नीतीश कुमार को? संकेत मिले…

पटना: क्या नीतीश कुमार को सत्ता से वैराग्य हो चुका है?यह सवाल कार्यकारिणी की बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के भाषण से उठने लगा है।

भाजपा का दबाव था सीएम पद के लिए

यह पहला मौका रहा जब उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच अपना वैराग्य दिखाया। उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद उन्हें मुख्यमंत्री बनने की एक पैसे की इच्छा नहीं थी लेकिन भाजपा ने उन पर मुख्यमंत्री बनने का दबाव डाला। मैंने कहा कि भाजपा से किसी को मुख्यमंत्री बना दिया जाये। मुझे तनिक भी इच्छा नहीं थी इस पद की।

Advertisement

सेवा की इच्छा रही मेरी

दरअसल बिहार चुनाव के बाद नीतीश कुमार ने अपनी पार्टी की पहली औपचारिक बैठक बुलायी थी। इसमें उन्होंने कहा कि उनकी इच्छा तो सेवा करने की थी। अरुणाचल मामले पर उन्होंने कहा कि यह हमारे मनोबल को तोड़ने की कोशिश है लेकिन हम घबराने वाले नहीं हैं।

Advertisement

अजय वर्मा
समाचार संपादक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here