रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रखी नए सेना मुख्यालय ‘थल सेना भवन’ की आधारशिला

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज दिल्ली कैंट में नए सेना मुख्यालय 'थल सेना भवन' की आधारशिला रखी। यह नया भवन 39 एकड़ क्षेत्र में बनाया जा रहा है। इसमें कार्यालय परिसर और पार्किंग के लिए 7.5 लाख वर्ग मीटर क्षेत्र का निर्माण किया जाएगा। इस भवन का पांच साल में निर्माण होने की उम्मीद है।

नई दिल्लीः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को दिल्ली कैंट में नए सेना मुख्यालय (Indian army headquarter) ‘थल सेना भवन’ (Thal sena bhawan) की आधारशिला रखी। यह नया भवन 39 एकड़ क्षेत्र में बनाया जा रहा है। इसमें कार्यालय परिसर और पार्किंग के लिए 7.5 लाख वर्ग मीटर क्षेत्र का निर्माण किया जाएगा। इस भवन का पांच साल में निर्माण होने की उम्मीद है।

इस नए भवन (Thal sena bhawan) में 1700 सैन्य और सिविलियन तथा 1300 उप-कर्मचारी काम करेंगे। फिलहाल सेना मुख्यालय साउथ ब्लॉक, सेना भवन, हट्समेंट एरिया, आर.के. पुरम, शंकर विहार और अन्य स्थानों पर फैला हुआ है।

Advertisement

इस अवसर पर सैनिकों को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि इस भवन (Thal sena bhawan) के निर्माण से सेना के सभी विभाग एक छत के नीचे आ जाएंगे। ये रक्षा संबंधी मुद्दों से प्रभावी ढंग से निपटने के अलावा राष्ट्रीय सुरक्षा में सामूहिक योगदान में मदद करेंगे। उन्होंने कहा कि यह नया भवन बहुमूल्य संसाधनों को बचाने और प्रशासनिक दक्षता में योगदान देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

Advertisement

रक्षा मंत्री ने नए भवन की आधारशिला को प्रेरणा का स्रोत बताया। उन्होंने कहा कि यह भवन हमारे सैनिकों द्वारा किए गए बलिदानों के बारे में देशवासियों को स्मरण कराएगा। उन्होंने कहा कि सशस्त्र बलों के कर्मियों ने राष्ट्र निर्माण में अमूल्य योगदान दिया है। उनके बलिदान के कारण ही भारत एक शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में उभरा है। यह नया भवन लोगों को नई लगन और उत्साह के साथ नए लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करेगा।

सशस्त्र बलों में बेहतर सहयोग और एकीकरण के महत्व पर जोर देते हुए उन्हों ने कहा कि चीफ ऑफ डिफेन्स स्टाफ की नियुक्ति और सैन्य मामलों के विभाग का निर्माण एक महत्वपूर्ण कदम हैं। इससे देश की सैन्य क्षमता को बढ़ाने और रक्षा-संबंधी मुद्दों से निपटने में बेहतर तालमेल लाने में मदद मिलेगी।

News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here