20.1 C
New Delhi
Saturday, March 2, 2024
-Advertisement-

आखिर हरे रंग की पोशाक ही क्यों पहनेंगे रामलला? चंपत राय ने दिया यह जवाब…

अयोध्याः वर्षों से प्रतिक्षित भव्य राम मंदिर का निर्णाण (Ram Mandir Nirman) अयोध्या में होने जा रहा है। इसके लिए 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर निर्माण स्थल का भूमि पूजन करने जा रहे हैं। इसके लिए तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) इससे जुड़ी हर एक चीज का निरीक्षण खुद ही कर रहे हैं।

उधर, इस कार्यक्रम के बीच भी विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहे हैं। कोई भगवान राम की पोशाक के रंग को लेकर सवाल कर रहा है तो कोई मुहूर्त पर। इस पूरे मामले में श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए जवाब दिया है। चंपत राय ने कहा कि कुछ लोगों को पीएम नरेंद्र मोदी सपने में आते हैं तो वे डर जाते हैं।

श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि भगवान हरे रंग के कपड़े पहनेंगे, इस पर भी विवाद किया जा रहा है। इसका पीएम, सीएम या ट्रस्ट से कोई संबंध नहीं है। पुजारी तय करते हैं कि किस दिन-किस रंग के कपड़े हों। यह परंपरा सदियों से चली आ रही है।

उन्होंने कहा, ‘हरा रंग समृद्धि का प्रतीक है, हरियाली का, खुशहाली का प्रतीक है। रंग के ऊपर चर्चा करना बुद्धि की विकलांगता का प्रतीक है। जिनके पार्कों में हरियाली नहीं होती वह मकान की छतों पर गमला रखकर हरियाली की कोशिश करते हैं। यह हिंदुस्तान की समृद्धि का प्रतीक है।’