20.9 C
New Delhi
Thursday, February 25, 2021

भारत में COVID-19 से ठीक होने वालों की संख्या ऐतिहासिक, आंकड़ा 15 लाख के पार

नई दिल्लीः देश में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच एक राहत भरी ख़बर है। स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय के मुताबिक भारत में COVID-19 से ठीक होने वाले मरीजों की संख्‍या आज ऐतिहासिक 15 लाख को पार कर गई है। 15,35,743 मरीजों का ठीक होना त्‍वरित जांच नीति अपनाने, मरीजों की निगरानी और उनके इलाज में तेजी के कारण संभव हुआ है। बेहतर एंबुलेंस सेवाओं, देखभाल के मानकों पर विशेष ध्‍यान देने और नॉन-इन्‍वैसिव ऑक्‍सीजन के कारण अपेक्षित परिणाम देखने को मिले हैं।

एक दिन में ठीक होने वाले लोगों की संख्या सोमवार को 54,859

स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटों में इलाज के बाद एक दिन में ठीक होने वाले मरीजों की संख्‍या सबसे अधिक यानी 54,859 होने के साथ ही कोविड-19 मरीजों की ठीक होने की दर 70 प्रतिशत होकर एक और ऊंचाई तक पहुंच चुकी है।

Advertisement

ठीक होने वाले लोगों की संख्या सक्रिय मामलों की तुलना में 9 लाख अधिक

तेजी से स्‍वस्‍थ होने की रिकॉर्ड संख्‍या से यह सुनिश्चित हो गया कि सक्रिय मामलों की संख्‍या में कमी आई है और वर्तमान में यह कुल पॉजिटिव मामलों का केवल 28.66 प्रतिशत है। भारत में 9 लाख से अधिक लोगों के ठीक होने की जानकारी मिली है, जबकि सक्रिय मामले 6,34,945 हैं।

Advertisement

मृत्यु दर सबसे कम 2 प्रतिशत पर पहुंची

मंत्रालय का मानना है आक्रामक जांच और अस्‍पताल में भर्ती मामलों के लिए तेजी से क्‍लीनिकल प्रबंधों के जरिए रोगी का जल्‍द पता लगाने के संबंध में केन्‍द्र और राज्‍य/संघ शासित प्रदेशों के समन्वित प्रयासों के कारण यह परिणाम देखने को मिले हैं और मृत्‍यु दर में लगातार कमी आ रही है। आज की तारीख में यह दो प्रतिशत है और तेजी से गिर रही है। रोगियों की शुरुआत में ही पहचान हो जाने के कारण सक्रिय मामलों का प्रतिशत तेजी से गिर रहा है।

शुरुआत में ही पहचान हो जाने के कारण मामूली और सामान्‍य मामलों को समय पर और तेजी से एकांत स्‍थान पर रखने में मदद मिली है। गंभीर मामलों का प्रभावी तरीके से प्रबंधन किया जा रहा है।

COVID-19 संक्रमण अभी भी 10 राज्‍यों में बरकरार

बता दें COVID-19 संक्रमण अभी भी 10 राज्‍यों में बरकरार है, जिसके कारण 80 प्रतिशत से अधिक नये मामले सामने आए हैं। घर-घर जाकर किये गए सर्वेक्षणों के जरिए आक्रामक जांच और रोगियों का पता लगाने तथा इन इलाकों में कंटेनमेंट से जुडी रणनीतियां बनाकर और निगरानी रखने से हो सकता है कि शुरुआत में पॉजिटिव मामलों की संख्‍या में वृद्धि देखने को मिली हो। फिर भी सही तरीके से लागू रणनीतियों से यह सुनिश्चित होगा कि समय के साथ COVID-19 मरीजों की संख्‍या कम होगी।

Avatar
News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!