29 C
New Delhi
Thursday, May 6, 2021

चीन के विरोध में जोमेटो के कर्मचारियों ने आखिर क्यों जलायी टीशर्ट ?

कोलकाता: भारत-चीन सीमा विवाद के बाद भारत में आम जनता के बीच चीन को लेकर विरोध बढ़ता ही जा रहा है। पके हुए खाने के सामान की ऑनलाइन डिलिवरी करने वाली कंपनी जोमेटो के कुछ कर्मचारियों ने कोलकाता में अपनी कंपनी की टी-शर्ट को फाड़ दी। और जलाकर कंपनी में चीन के निवेश का विरोध किया।

इन कर्मचारियों ने रविवार को चीन के बिजनेसमैन जैक मा की कंपनी अलीबाबा द्वारा निवेश का विरोध किया। वर्ष 2018 में चीन की दिग्गज कंपनी अलीबाबा एक इकाई ने जोमेटो में 14.7 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 21 करोड़ डॉलर का निवेश किया था। कंपनी की इसी इकाई ने हाल में जोमेटो में 15 करोड़ डॉलर का और निवेश किया।

Advertisement

एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि चीन की कंपनियां भारत से मुनाफा कमा रही हैं। देश की सेना के जवानों पर हमला कर रही है। चीन हमारी जमीन छीनने का प्रयास कर रहा हैं। एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा कि हम भूखे रह लेंगे। मगर ऐसी कंपनी में काम नहीं करेंगे जिसमें चीन का निवेश है।

Advertisement

गौरतलब है कि गलवान घाटी में 15 जून को चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में 20 भारतीय जवान शहीद हुए थे। इसके विरोध में शनिवार को कोलकाता के बेहाला में जोमेटो के कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन किया था। कुछ कर्मचारियों का दावा है कि उन्होंने जोमेटो की नौकरी छोड़ दी है।

कोरोना वायरस महामारी की वजह से जोमेटो ने 13 प्रतिशत कर्मचारियों यानी 520 को बाहर कर दिया था। इस बारे में जोमेटो की प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई है कि क्या विरोध करने वालों में वे कर्मचारी थे, जिन्हें नौकरी से हटाया गया है।

दीपक सेन
दीपक सेन
मुख्य संपादक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!