32.1 C
New Delhi
Saturday, July 24, 2021

अमित शाह ने की वृक्षारोपण कार्यक्रम की शुरूआत, अहमदाबाद में 9 जगहों पर लगाए पेड़

अहमदाबादः केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को बड़े स्तर पर वृक्षारोपण कार्यक्रम की शुरूआत की। उन्हों ने अहमदाबाद के सिंधुभवन रोड सहित शहर में कुल नौ विभिन्न जगहों पर वृक्षारोपण किया। इस अवसर पर अमित शाह ने कहा कि वृक्षारोपण कार्यक्रम का कद छोटा होता है, लेकिन उसका असर और परिमाण दोनों व्यापक होते हैं। यह आनेवाली कई पीढ़ियों को स्वस्थ और लंबा आयुष्य प्रदान करने का कारण बनता है। यदि वृक्ष का ध्यान नहीं रखा जाएगा तो पृथ्वी का अस्तित्त्व ही खतरे में आ जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पर्यावरण के प्रति जागरुकता अभियान का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि पिछले सात सालों में भारत ने सौर उर्जा और पवन उर्जा क्षेत्र में बहुत काम किया है। इस क्षेत्र में भारत ने दुनिया में पांचवे अग्रिणी स्थान पर अपनी जगह बना ली है।

Advertisement

अमित शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने देश के 14 करोड़ लोगों तक रसोई गैस सिलिंडर पहुंचाकर पर्यावरण की रक्षा करने का काम किया है। साथ ही बड़ी संख्या में बिजली की बचत करने वाले बल्बों का वितरण मोदी सरकार ने किया है।

Advertisement

अमित शाह ने कहा कि पर्यावरण का हम ख्याल रखेंगे तो पर्यावरण हमारा ख्याल रखेगा। इस प्राचीनतम भारतीय संस्कृति की सीख को नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यों, नीतियों और अपने परिश्रम से प्रस्थापित किया है। हमारे उपनिषदों में भी कई जगहों पर वृक्षों का महात्म्य किया गया है।

अमित शाह ने आह्वान किया कि अहमदाबाद को सिर्फ भारत ही नहीं, विश्वभर का सबसे अधिक ग्रीन कवरेज वाला शहर बनाने का लक्ष्य रखना चाहिए और यह संभव है। शाह ने कहा कि हाल ही में आए तूफान से शहर में 5000 वृक्ष धराशायी हुए, जिसके सामने शहर प्रशासन ने वृक्षारोपण का लक्ष्य 10 लाख से बढ़ाकर 15 लाख करने का प्रशंसनीय कार्य किया है। शाह ने कहा कि तीन-चार पीढियों तक ऑक्सिजन दे सकें ऐसे वृक्ष लगाने का प्रयास होना चाहिए।

अमित शाह ने कार्बन डायोक्साइड और कार्बन मोनोक्साइड से ओज़ोन के स्तर को हो रहे नुकसान को कम करने के साथ-साथ पीपल, बरगद, नीम, जामुन जैसे पेड़ लगाने की बात कही। वृक्षों के औषधीय गुणों के लाभ बताते हुए शाह ने कहा कि गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र में 11 लाख से ज्यादा वृक्षों को जीवंत रखने का संकल्प लिया गया है, जिसके लिए सभी कार्यकर्ताओं और नागरिकों को काम करना पडेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!