26.1 C
New Delhi
Sunday, September 19, 2021

कोरोना वैक्सीनः कोविशील्ड के लिए कच्चा माल देने को तैयार हुआ अमेरिका

नई दिल्लीः कल तक जो अमेरिका भारत को कोविशील्ड वैक्सीन (covishield vaccine) के उत्पादन में प्रयुक्त आवश्यक कच्चे माल की आपूर्ति करने से मना कर रहा था, अब वो राजी हो गया है।

Advertisement

कच्चे माल की आपूर्ति को लेकर अमेरिका की ओर से यह बयान रविवार को अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन और भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के बीच भारत में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर फ़ोन पर हुई बात चीत के बाद आया है।

Advertisement

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने बातचीत के दौरान भारत में कोरोना के संकट को लेकर ‘सहानभूति’ ज़ाहिर की।

Advertisement

व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि आज दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच बातचीत हुई और अमेरिकी सलाहकार सुलिवन ने भारत में मौजूदा स्थिति को लेकर संवेदना ज़ाहिर की।

दुनिया में कोरोना महामारी के सबसे अधिक मामले अमेरिका और भारत में ही हैं। बीते सात दशकों से दोनों देश स्वास्थ्य मामलों में एक-दूसरे के सहयोगी रहे हैं और मदद करते रहे हैं वो चाहे स्मॉलपॉक्स के ख़िलाफ़ लड़ाई रही हो या फिर पोलियो और एचआईवी के ख़िलाफ़।

दोनों देशों ने इस महामारी से भी मिलकर निपटने को लेकर प्रतिबद्धता ज़ाहिर की। जैसे कि इस महामारी के शुरुआती दौर में भारत की ओर से अमेरिका को मदद की गई थी उसी तरह अब जबकि भारत को ज़रूरत है तो अमेरिका मदद करने के लिए पूरी तरह से दृढ़ संकल्प है।

इसके लिए, अमेरिका लगातार उपलब्ध रिसोर्स और सप्लाई मुहैया कराने की कोशिश कर रहा है। भारत मे कोविशील्ड कोरोना वैक्सीन बनाने के लिए उत्पादकों को जिन विशेष कच्चे माल की ज़रूरत है, उनके स्रोतों की पहचान भी कर ली गई है और जल्द से जल्द यह भारत को उपलब्ध भी कराया जाएगा।

कोविड19 के मरीज़ों की मदद और फ्रंट लाइन वर्कर्स की सलामती के लिए अमेरिका रैपिड डायग्नोस्टिक टेस्ट किट, वेंटिलेटर, और पीपीई किट भी भारत को उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा ऑक्सीजन निर्माण में भी सहयोग के विकल्पों पर ग़ौर किया जा रहा हैं। इसके साथ ही विशेषज्ञों की एक टीम का भी गठन किया जा रहा है जो भारत में स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ निकट संपर्क में रहते हुए काम करेगी।

दोनों देशों के सुरक्षा सलाहकारों ने इस बात पर सहमति जताई कि भारत और अमेरिका आने वाले दिनों में भी एक-दूसरे का सहयोग करते रहेंगे और संपर्क में रहेंगे।

अभय पाण्डेय
आप एक युवा पत्रकार हैं। देश के कई प्रतिष्ठित समाचार चैनलों, अखबारों और पत्रिकाओं को बतौर संवाददाता अपनी सेवाएं दे चुके अभय ने वर्ष 2004 में PTN News के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। इनकी कई ख़बरों ने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!