27.6 C
New Delhi
Tuesday, March 2, 2021

आरबी बीएसआई अभियान से 14 मिलियन लोगों की जिंदगी में सुधार

मुंबई : दुनिया की अग्रणी कंज़्यूमर हैल्थ एवं हाईज़ीन कंपनी, रेकिट बेंकाईज़र ने अपने फ्लैगशिप बीएसआई कैम्पेन के साथ मौजूदा कोविड-19 महामारी से लड़ाई में हाईज़ीन व हैल्थ के प्रयासों में मदद करने के लिए अपना सामाजिक निवेश 10 मिलियन पाउंड से बढ़ाकर 20 मिलियन पाउंड करने का संकल्प लिया। पिछले छः सालों में यह अभियान भारत में 14 मिलियन लोगों को लाभान्वित कर चुका है। अभियान के एम्बेसडर, अमिताभ बच्चन के साथ इस साल यह अभियान भारतीयों को खुद की देखभाल करने के लिए प्रोत्साहित करेगा ताकि एक सुरक्षित भविष्य सुनिश्चित हो।

अंतिम छोर तक लाभ पहुंचाने की कोशिश

Advertisement

कोरोना महामारी ने हैल्थकेयर के प्रति दृष्टिकोण में बदलाव ला दिया है। हैल्थ, हाईज़ीन एवं सैनिटेशन लोगों की जिंदगी में अत्यधिक महत्वपूर्ण हो गए हैं। प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया मूवमेंट द्वारा शुरू किए गए नेशनल डिजिटल हैल्थ मिशन (एनडीएचएम) के अनुरूप, आरबी बीएसआई अगले कुछ सालों में अंतिम छोर तक हैल्थ एवं हाईज़ीन पहुंचाने के लिए मजबूत सुधार करेगा। ये अभियान बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं, उचित सैनिटाईज़ेशन एवं पर्याप्त पोषण पर केंद्रित होंगे तथा सतत विधियों द्वारा पर्यावरण की रक्षा करेंगे।

Advertisement

लॉन्च होगा नया ऐप

यह अभियान कोरोना महामारी के बीच गंभीर होती मौजूदा पर्यावरण की परिस्थितियों को बनाए रखते हुए सतत विधियां प्रदान करने पर केंद्रित है। डेटॉल 100 प्रतिशत रिसाईकल्ड बोतल के लॉन्च के साथ डेटॉल हैंडवॉश की बोतल में जर्म प्रोटेक्शन के साथ उन उपभोक्ताओं तक पहुंच रहा है, जो पर्यावरण का ध्यान रखते हैं। इस बारे में आरबी के सीईओ, लक्ष्मण नरसिम्हन ने कहा कि पिछले छः सालों से डेटॉल बनेगा स्वस्थ इंडिया ने 14 मिलियन भारतीयों के लिए बेहतर हाईज़ीन व सैनिटेशन प्रक्रियाओं के लिए व्यवहार में परिवर्तन लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कोविड-19 ने हैल्थकेयर के ढांचे के विकास की ओर सरकार का ध्यान उत्पन्न किया है। सैल्फकेयर हैल्थ एवं हाईज़ीन विधियों को प्रोत्साहित करने के लिए हम भारतीयों के लिए हैल्दिली ऐप लॉन्च कर रहे हैं।

स्कूली टीचर्स को मिलेगा प्रशिक्षण

उन्होंने कहा, ‘‘हम ‘ट्रेनिंग द ट्रेनर’ के विचार के साथ एक सुरक्षित भविष्य के लिए आत्मनिर्भरता की विधियों का प्रसार कर रहे हैं। बेहतर डिजिटल टूल्स व टेक्नॉलॉजी द्वारा फ्रंटलाईन कर्मियों, टीचर्स एवं बच्चों को प्रिवेंटिव व प्राईमरी केयर में समर्थ बनाकर परिस्थितियों में परिवर्तन लाया जा सकता है। व्यवहार में परिवर्तन लाने के लिए बीएसआई डेटॉल हाईज़ीन स्कूल प्रोग्राम की पहुंच को दोगुना करेगा और ‘कोविड-19 की तैयारी व हाईज़ीन की भूमिका’ पर केंद्रित रहते हुए 5 मिलियन स्कूली टीचर्स को प्रशिक्षित करेगा।

अजय वर्मा
अजय वर्मा
समाचार संपादक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!