16.1 C
New Delhi
Sunday, November 28, 2021

उत्तराखंडः आसमान से आई तबाही ने ली 47 की जान, कई लापता, सड़कों से संपर्क भंग

देहरादूनः उत्तराखंड में आसमान से आई तबाही का भयानक मंजर देखने को मिल रहा है। बारिश, भूस्खलन और अचानक आई बाढ़ की वजह से प्रदेश के कई हिस्सों में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। इस प्राकृतिक आपदा में मरने वालों का आंकड़ा 47 तक पहुंच गया है। अकेले नैनीताल में 25 लोगों के मरने की ख़बर है, वहीं कई लोग अब भी लापता हैं, जिनकी तलाश जारी है।

जानकारी के मुताबिक बारिश के कारण आई बाढ़ से कई इलाकों का सड़क से संपर्क टूट गया है। बड़ी संख्या में लोग जगह-जगह फंसे हुए हैं। कुमाऊं में पानी का स्तर कम हो रहा है, लेकिन रास्ते खुलने में अभी वक्त लगेगा। SDRF और NDRF के साथ पुलिस की टीमें भी लोगों के रेस्क्यू में जुटी हैं।

Advertisement

सेना ने संभाली कमान, ग्रामिणों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया

हालात को देखते हुए सेना को कमान संभालना पड़ा है। राहत और बचाव कार्यों में मदद के लिए भारतीय वायु सेना के तीन हेलीकॉप्टरों को तैनात गया। इनमें से दो हेलीकॉप्टरों को नैनीताल जिले में तैनात किया गया है, जहां इस प्राकृतिक आपदा से सबसे ज्यादा क्षति पहुंची है। जिन स्थानों पर भूस्खलन हुआ है, वहां सड़कों से मलबा हटाने का काम तेजी से जारी है। भूस्खलनों के कारण नैनीताल तक जाने वाली सड़कों पर मलबा आने की वजह से पर्यटक स्थल का राज्य के बाकी हिस्सों से संपर्क टूट गया है रामनगर में आर्मी के हेलीकॉप्टर की मदद से दो दर्जन से ज्यादा गांव वालों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा चुका है। पंतनगर में तीन जगहों पर फंसे 25 लोगों को रेस्कयू करने के लिये वायु सेना को ध्रुव हेलीकॉप्टर की मदद लेनी पड़ी।

Advertisement

सीएम कीअपील- मौसम सुधरने तक धैर्य रखें चार धाम यात्री

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लोगों से न घबराने की अपील करते हुए कहा कि उन्हें सुरक्षित बाहर निकालने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने मंगलवार को कुमाऊं और गढ़वाल क्षेत्रों में प्रभावित लोगों से मुलाकात की और आपदा में जान गंवाने वाले व्यक्तियों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि संकट की इस घड़ी में लोगों को धैर्य बनाए रखने की जरूरत है। साथ ही चार धाम यात्रियों से फिर अपील करते हुए कहा कि वे मौसम में सुधार होने तक जहां हैं, वहीं रुके रहें।

उत्तराखंड पहुंचेंगे गृहमंत्री अमित शाह

इधर गृहमंत्री अमित शाह आज (बुधवार) शाम को बाढ़-बारिश से बिगड़े हालात की समीक्षा के लिए उत्तराखंड जाएंगे और गुरुवार को बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे करेंगे।

इन प्रदेशों के लिए जारी की गई चेतावनी

बता दें कि भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु समेत देश के अन्य हिस्सों से भी बारिश की खबरें हैं। मौसम विभाग (IMD) ने पूर्व और पूर्वोत्तर भारत में आज यानी बुधवार तक तेज बारिश का पूर्वानुमान जताया है।

अभय पाण्डेय
आप एक युवा पत्रकार हैं। देश के कई प्रतिष्ठित समाचार चैनलों, अखबारों और पत्रिकाओं को बतौर संवाददाता अपनी सेवाएं दे चुके अभय ने वर्ष 2004 में PTN News के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। इनकी कई ख़बरों ने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट अपडेट

error: Content is protected !!