20.7 C
New Delhi
Saturday, March 2, 2024
-Advertisement-

अयोध्या में पीएम मोदी के भूमि पूजन के बाद दीप जला लोग मना रहे उत्सव

लखनऊ। राम की नगरी अयोध्या में यह रामकथा का नया अध्याय है, 492 वर्ष तक चली संघर्ष-कथा का अपना ‘उत्तरकांड’ है।
अपनी माटी, अपने ही आंगन में ठीहा पाने को रामलला पांच सदी तक प्रतीक्षा करते रहे तो रामभक्तों की ‘अग्निपरीक्षा’ भी अब पूरी हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अभिजीत मुहूर्त में श्रीराम जन्मभूमि में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन करने के साथ ही आधार शिला भी रखी।

इससे पहले उन्होंने अयोध्या हनुमानगढ़ी मंदिर में प्रभु राम के भक्त हनुमान दर्शन भी किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि राम सभी के हैं। वह सभी के मन में बसते हैं। भूमि पूजन के बाद रामनगरी समेत पूरे देश में दीपोत्सव मनाया जा रहा है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में आतिशबाजी की तो वहीं आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने अयोध्या में सरयू तट आरती में शामिल हुए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर दीप जलाए और आतिशबाजी की। इससे पहले उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास समारोह में भाग लिया।
श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन में शामिल होने के बाद शाम को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने सरयू नदी के तट पर ‘आरती’ की। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राम मंदिर निर्माण हेतु किए गए भूमि पूजन एवं कार्यारम्भ के पावन एवं ऐतिहासिक अवसर पर राजभवन में दीप प्रज्ज्वलित किया।

इसी कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास का चरण छूकर आशीर्वाद लिया।