17.1 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024
-Advertisement-

फिल्मांकन को बढ़ावा देने के लिए भारतीय प्रतिनिधिमंडल लेगा बर्लिनले 2020 में हिस्‍सा

नई दिल्लीः केन्‍द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय (MIB) भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के सा‍थ मिलकर 70वें ‘बर्लिन अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव’ में भाग लेगा। यह महोत्सव 20 फरवरी से 1 मार्च तक जर्मनी के बर्लिन शहर में आयोजित किया जाएगा। फिल्म महोत्‍सव में एक भारतीय मंडप भी होगा जो विदेशी बाजार में भारतीय सिनेमा को लोकप्रिय बनाने और उसके लिए व्यापार के नए अवसरों का पता लगाने के लिए एक मंच प्रदान करेगा।

तीन भारतीय फीचर फिल्मों के साथ एक लघु वृत्तचित्र का चयन

इस वर्ष बर्लिन फिल्‍मोत्‍सव (berlin international film festival 2020) के लिए तीन भारतीय फीचर फिल्मों के साथ-साथ एक लघु वृत्तचित्र का चयन किया गया है। इसमें पुष्पेन्द्र सिंह की ‘लैला और सत्त गीत’, प्रतिमा वत्स की ‘ईब अले ऊ’, अक्षय इंडीकर की ‘स्‍थलपुराण’ और एकता मित्तल का लघु वृत्तचित्र ‘गुमनाम दिन’ शामिल हैं। बर्लिन में भारतीय मंडप का उद्घाटन विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर करेंगे।

बर्लिनले के माध्‍यम से अपनी फिल्मों को बढ़ावा देना चाहता है भारत

भारत बर्लिनले 2020 के माध्‍यम से भाषाई, सांस्कृतिक और क्षेत्रीय विविधता वाली अपनी फिल्मों को बढ़ावा देना चाहता है। इसके साथ ही वह फिल्‍मों के वितरण और उत्पादन तथा  देश में फिल्मांकन के लिए अंतरराष्ट्रीय स्‍तर पर सहयोग को  प्रोत्साहित करना चाहता है और विकास प्रौद्योगिकी को सृजित करना चाहता है।

फिल्मोत्सव में भाग लेने जा रहे भारतीय प्रतिनिधिमंडल का उद्देश्‍य विभिन्न वार्ताओं के माध्यम से अपने फिल्म सुविधा कार्यालय (FFO) के जरिए भारत में फिल्‍मांकन की आसान बनाई गई प्रक्रिया को बढ़ावा देना है। FFO फिल्म निर्माताओं के लिए सिंगल विंडो क्लीयरेंस की सुविधा देता है और भारत में ‘सिनेमैटिक पर्यटन ’ के लिए मंच प्रदान करता है। प्रतिनिधिमंडल भारत को फिल्‍म निर्माण के बाद की गतिविधियों के केन्‍द्र के रूप में पेश करेगा और अंतर्राष्ट्रीय प्रोडक्शन हाउसों के साथ फिल्म निर्माण गतिविधियों को बढ़ावा देगा।

बर्लिनले जा रहा सरकारी प्रतिनिधिमंडल गोवा में 2020 में आयोजित होने वाले भारतीय फिल्‍म महोत्‍सव के 51वें संस्‍करण में अंतरराष्‍ट्रीय भागीदारी को सुविधाजनक बनाएगा। इस फिल्‍म महोत्‍सव का उद्देश्‍य दुनिया भर के फिल्‍म उद्योग को फिल्‍म निर्माण की कला में उत्‍कृष्‍टता का प्रदर्शन करने के लिए एक साझा मंच प्रदान करना है।

कई दोशों के अधिकारियों के साथ भारतीय प्रतिनिधिमंडल की बैठक

प्रतिनिधिमंडल का इज़रायल, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, स्पेन, ब्राजील, पुर्तगाल, फ्रांस, इटली, स्विट्जरलैंड, जर्मनी, कनाडा, अमेरिका और रवांडा के अधिकारियों के साथ बैठकें करने का कार्यक्रम है।  यह प्रतिनिधिमंडल लोकार्नो फिल्म फेस्टिवल, सनडांस फिल्म फेस्टिवल, वेनिस इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल, कान्स फिल्म फेस्टिवल, एडिनबर्ग इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल और एनेक्सी इंटरनेशनल एनिमेशन फेस्टिवल के अधिकारियों के साथ भी बैठक करेगा।

फिल्‍म निर्माण के विभिन्‍न क्षेत्र में भारत अन्‍य देशों की अपेक्षा ज्‍यादा बेहतर स्थिति में

बता दें फिल्‍म निर्माण के विभिन्‍न क्षेत्र में भारत अन्‍य देशों की अपेक्षा ज्‍यादा बेहतर स्थिति में है। देश में एक मजबूत फिल्‍म उद्योग है जिसमें किसी भी तरह की फिल्‍म बनाने के लिए विश्‍व स्‍तर के तकनीशियन और उपकरणों के साथ ही शूटिंग के लिए विभिन्‍न प्रकार के स्‍थान भी उपलब्‍ध हैं।

भारत में 500 मिलियन इंटरनेट यूजर्स और 500 मिलियन स्मार्ट फोन यूजर्स

देश में निर्मित 1,800 से अधिक फीचर फिल्मों के साथ, 900 से अधिक टेलीविजन चैनल, 500 मिलियन इंटरनेट उपयोगकर्ता और 500 मिलियन स्मार्ट फोन उपयोगकर्ता, भारत के जीवंत मीडिया और मनोरंजन (M & E) उद्योग वैश्विक साझेदारी के लिए आकर्षक अवसर प्रदान करते हैं।

News Stump
News Stumphttps://www.newsstump.com
With the system... Against the system