क्या सिवान में आचार संहिता के बावजूद जुलूस में लहराए गए कार्बाइन और बंदूक

सिवानः बिहार में कानून का टूटना, नियमों की धज्जियां उड़ जाना और प्रशासन का मौन रहना कोई नई बात नहीं, इसलिए कभी-कभी झूठ भी सच लगने लगता है और सच तो सच है हीं। ताजा मामला सिवान के मैरवां प्रखंड का है। न्यूज स्टंप के हाथ लगे एक भ्रामक वीडियो के मुताबिक यहां शनिवार को राम नवमी शोभायात्रा के दौरान आदर्श आचार संहिता की जमकर धज्जियां उड़ाई गई हैं।

वीडियो में  देखा जा सकता है कि किस तरह से आदर्श आचार संहिता के दौरान रामनवमी जुलूस में जमकर हथियारों का प्रदर्शन किया गया। सैंकड़ो की तादाद में जुलूस में शामिल लोगों के बिच कुछ लोग तलवार, भाला और हॉकी स्टिक के अलावें कार्बाइन (Carbine) और बंदूक जैसे दिखने वाले हथियारों को खुलेआम खिलौनों की तरह लहरा रहे हैं।

कुछ लोगों की माने तो जुलूस में दीखाए जा रहे दोनो हथियार नकली हैं। ये बस कार्बाइन और बंदूक के प्रतिकात्मक स्वरुप हैं। हातांकि इस बाबत जब एसपी सिवान से फोन पर बात की गई असलियत जानने का प्रयास किया गया तो उन्होंने दो टूक जवाब देते हुए बस इतना ही कहा कि “आप ये सब मुझसे क्यों पुछ रहे, आप कैसे कह सकते हैं आपके हाथ लगा वीडियो मैरवा का ही है? आप उसे मेरे पास भेजे देखने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है” हबरहाल ये वीडियो उनके पास भेज दीया गया है ताकि इसकी पुष्टी हो सके और असलियत सामने आ सके।

बता दें लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र लागू आदर्श आचार संहिता के साथ चुनाव आयोग ने हथियार लेकर चलने या उनके प्रदर्शन पर सख्त प्रतिबंध लगा दिया है। इस बाबत आयोग की तरफ से संबंधित सभी अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे नियमों का शत-प्रतिशत पालन करें। साथ ही यह भी कहा गया है कि आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों पर सख्ती से कार्रवाई करें।

Read also: सिवान के मैरवा में राम नवमी पर निकाली गई भव्य शोभायात्रा

गौरतलब है कि आचार संहिता (Code of conduct) चुनाव आयोग द्वारा बनाए गए वे खास नियम हैं, जिसका मकसद हर हाल में स्वतंत्र, निष्पक्ष और साफ-सूथरा चुनाव संपन्न करवाना है। आचार संहिता लागू होने से लेकर खत्म होने तक चुनाव आयोग मजबूत और निर्णायक भूमिका में होता है। इसका पालन करना हर राजनीतिक दल, उम्मीदवार और आम आदमी के लिए बेहद जरूरी होता है। आचार संहिता का उल्लंघन करने पर दोषि को सख्त से सख्त सजा हो सकती है। एफआईआर (FIR) हो सकती है और जेल भी जाना पड़ सकता है।

नोटः News Stump दिखाए गए हथियार की वास्तविकता को प्रमाणित नहीं करता।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here