बिहार की भावनाओं से ना खेलें नरेन्द्र मोदी, जनादेश का करें सम्मान- सरोज तिवारी

पटनाः प्रचंड बहुमत से जीतकर गुरूवार शाम नरेन्द्र मोदी ने लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली। उनके साथ 25 कैबिनेट (Cabinet minister), 9 स्वतंत्र प्रभार और 24 राज्य मंत्रियों नें भी पद एवं गोपनियता की शपथ ली। मोदी के मंत्रिमंडल में जहां अमित शाह जैसे कुछ नए चेहरों को जगह मिली वहीं कुछ पुराने चेहरे  इस मंत्रिमंडल से बाहर हो गए।

इन सब के बीच NDA के अंदर और बाहर दोनो जगह ये चर्चा जोरों पर है कि बिहार में NDA  के मजबूत साथी JDU को मोदी मंत्रिमंडल में आखिर जगह क्यों नहीं मिली। इसे लेकर विपक्ष नें एक साथ मोदी और नीतीश दोनों पर निशाना साधना शुरु कर दीया है। RJD जहां लगातार नीतीश कुमार पर चुटकी ले रहा है वहीं कांग्रेस इसे मोदी की मौकापरस्ती बता रही है।

बिहार प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सरोज तिवारी का कहना है कि मोदी ने सुनहरे सपने दीखाकर शिर्फ और शिर्फ नीतीश कुमार का इस्तेमाल किया है। पहले नीतीश की छवि को रखकर उनके नाम पर बिहार में अच्छा जन समर्थन जुटाया और फिर उसी नीतीश को खाली हाथ चलता कर दीया।

JDU  के किसी नेता को मोदी मंत्रिमंडल में जगह ना मिलने को सिधे जनता से जोड़ते हुए सरोज ने इसे बिहार की जनता के साथ नाइंसाफि करार दीया है। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी बिहार की भावनाओं से ना खेलें और जनादेश का सम्मान करें।

बता दें इस लोकसभा चुनाव में बिहार के कुल 40 में से 17 पर BJP, 17 पर JDU और 6 सिट पर LJP ने चुनाव लड़ा था। BJP नें 17 और JDU ने किशनगंज छोड़कर कुल 16 सिटों पर जीत दर्ज की जबकी LJP अपने सभी 6 सिटों पर विजयी रही। मोदी ने अपने मंत्रिमंडल मे बिहार BJP से जहां चार को मंत्री बनाया वहीं LJP से केवल रामविलास पासवान को जबकी JDU से किसी भी व्यक्ति को अपने मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here