पटना साहिब लोकसभा से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगी वार्ड 53 की पूर्व पार्षद गुलफिशां जबी उर्फ सुग्गन

Patna Sahib, Patna sahib parliamentary seat, Gulshifan Jabeen, Suggan, Ward 53, Municipal Corporation of Patna,Candidate from Patna Sahib, Loksabha Patna Sahib

पटनाः हम किसी की खामियों को उजागर करने, गिनाने या विरोध करने नहीं बल्कि उनको दूर और दुरुस्त करने आ रहे हैं। हम किसी को चुनौति देने या नाकारा साबित करने भी नहीं बल्कि उन समस्याओं का हल निकालने आ रहे हैं, जिनसे उबरना हमारे आज और आने वाले कल के लिए बेहद जरुरी है। ये कहना है पटना साहिब के चुनावी रण में खम ठोकने वाली निर्दलीय प्रत्याशी (Independent Candidate from Patna Sahib) गुलफिशां जबी उर्फ सुग्गन (Gulfishan Jabeen alias Suggan) का।

जी हां हम बात उसी गुलफिशां जबी उर्फ सुग्गन (Gulfishan Jabeen alias Suggan) की कर रहे हैं जो कई मर्तबा पटना के वार्ड 53 से निगम पार्षद (ward Councillor patna) रह चुकी हैं। जदयू की पूर्व प्रदेश महिला प्रवक्ता रह चुकी हैं और अभी बिहार राज्य हज कमेटी की सदस्य (Member of Bihar state haj committee) हैं। आगे देश के सबसे बड़े सदन में पहुंचने की तैयारी है।

सुग्गन को पटना साहिब की जनता पर है भरोषा

कड़क मिजाज, पारदर्शी विचार और ठोस इरादा रखने वाली सुग्गन की माने तो उनका सामना इस रण में राजनीति के बड़े-बड़े सुरमाओं और धनपशुओं से है, लेकिन फिर भी वो खम ठोकने पर आमदा हैं, क्योंकि ये फैसला क्षेत्र की जनता का है और उन्हे जनता पर भरोषा है।

रविशंकर या शत्रुघ्न से नहीं पड़ता फर्क

भाजपा (BJP) के रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad)और कांग्रेस (Congress) के शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughna Sinha) जैसे राजनीति के धुरंधरों के बीच इरादों पर अडीग सुग्गन (Suggan) की माने तो उनकी पहचान भले ही इनसे छोटी है, वे भले ही किसी दल से नहीं हैं, लेकिन लोगों का समर्थन उन्हे उन नेताओं से ज्यादा मिल रहा है, जो दल में रहकर अपने विचारों और भावनाओं की तिलांजलि दे चुके हैं।

जनता की मांग पर उतरना पड़ा चुनाव मैंदान में

बकौल सुग्गन (Suggan) इरादा चुनाव लड़ने का कतई नहीं था, लेकिन लोगों की लगातार मांग की वजह से उन्हे ये फैसला लेना पड़ा है। अपनी जीत के बाबत सुग्गन कहती हैं कि दल और व्यक्ति से उपर जनता होती है। हार और जीत तो उसी का उपहार है जो एक प्रत्याशी को उसके कर्मों के हिसाब से मिलता है।

क्या कहती है पटना साहिब की जनता

वहीं लोगों की माने तो लंबे वक्त तक पटना नगर निगम में निगम पार्षद (Ward Councillor Patna) पद पर रह चुकीं सुग्गन इस क्षेत्र की समस्याओं को बेहद करीब से जानती हैं। आम जनता के रुप में वे खुद उसकी भुक्तभोगी रही हैं। वे पार्षद पद पर रहते कई बार उन समस्याओं को लेकर सरकार से गुहार भी लगाती रही हैं। साथ ही वे ऊंच-नीच, जाति-धर्म से उपर उठकर समाज के लिए सोचने और करने में यकीन रखती हैं। खास कर महिलाओं के प्रति वे काफी संवेदनशील हैं।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here