Sunday, May 26, 2019
Home विचार

विचार

मोदी की योजनाओं की डिजाइनिंग बेहतरीन, पर मंत्रिमंडल गठन की शैली ठीक नहीं

यूं तो मोदी सरकार की सभी योजनाओं की डिजाइनिंग को मैं बेहतरीन मानता हूँ, परन्तु उनके मंत्रिमंडल गठन की शैली मुझे कभी पसंद नहीं...

और इस तरह चुनाव आयोग के प्रचार के बिना ही NOTA बन गया आंदोलन

NOTA किसी राजनीतिक दल का नाम नहीं, एक विकल्प का नाम है। चुनाव में प्रत्याशियों की सूची में यह सबसे अंतिम विकल्प होता है।...

आरक्षण नहीं है सामाजिक न्याय – मनोहर मनोज

भारत में सामाजिक न्याय के प्रतीक के रूप में माना जाने वाला आरक्षण का मुद्दा राजनीतिक रूप से सर्वाधिक चर्चित विषयों में से एक...

देश से सवर्णों को मिटाने की राजनीति!

उत्तर प्रदेश में मायावती ने नारा दिया था "तिलक, तराजू और तलवार इनको मारो जूते चार।" तिलक माने कि ब्राह्मण। तराजू माने कि बनिया...

यह सवर्ण 1000 वर्षों का हिसाब चुकाने के लिए तैयार है!

हम जन्म से हिंदू हैं। यह मेरा धर्म है, मेरी संस्कृति है किंतु हमें किसी अन्य के मुस्लिम, इसाई होने से भी कोई दिक्कत...

असम की अफरातफरी बयां करती वरिष्ठ पत्रकार मनोहर मनोज की कलम

असम में 40 लाख लोगों की भारतीय नागरिकता की पात्रता सूची से विलग हो जाने वाली रिपोर्ट को लेकर देश भर में अलग-अलग मंचो...

NDTV वाले रवीश कुमार की पत्रकारिता में अब वो बात नहीं

रवीश कुमार बहुत अच्छे टीवी पत्रकार है और उनका चैनल NDTV तमाम शोर मचा रहे चैनलों के बाजार का सबसे अच्छा प्रोडक्ट भी। पर...

विरासत में सौंपी आफतों की पोटली, परिवार को देना पड़ रहा लालू के कर्मों का लेखा-जोखा !

अभय पाण्डेय / पटना: पौराणिक हिन्दू दर्शन है कि पिता के पुण्य का भागीदार उसके औलाद बनते हैं, पाप के भी. वहीँ सामाजिक और कानूनी...
Loading...