पढ़िए देश के कुछ गिने-चुने शीर्ष पत्रकारों के अटपटे-चटपटे नाम

बुड़बक का पन्ना

ले लोटा: कुर्सी बड़ी हो और ओहदा उंचा तो नाम में क्या रखा है ? वैसे भी चर्चा तो उन्हीं की होती है जिनका कद बड़ा होता है, जिनकी पहचान बड़ी होती है। उनका क्या जिनकी पहचान हीं ना हो। पढ़िए सात समुंदर पार शारजाह में बतौर अभियंता कार्यरत भारतीय मूल के नबीन चंद्रकला कुमार के फेसबुक से देश के शीर्ष पत्रकारों के अटपटे-चटपटे नाम।

कुछ भारतीय पत्रकार आ ओह लो के विशेषणीय नाव

रवीश कुमार – मेहि गुंडा

पुण्य प्रसून बाजपेयी – सुरतीबाज

अंजना ओम कश्यप – हुँआंड़

अर्नब गोस्वामी – डोमकच

 बरखा दत्त – फुरगुद्दी

अनुराधा प्रसाद – ओल

 किशोर अजवाणी – मूस

सुमेरा खान – बकलोल

अभिसार शर्मा – बनेचर

दीपक चौरसिया – खजुवहट

रजत शर्मा – लेंढा

रोहित सरदाना – झींगुर

सुधीर चौधरी – भादो के बेंग

श्वेता सिंह – भकोल

राजदीप सरदेसाई – घइचट

अमिश देवगन – कुरूवारन

कुछ भारतीय पत्रकार आ ओह लो के विशेषणीय नाव

कृपया अन्यथा ना लें- नबीन चंद्रकला कुमार के फेसबुक पोस्ट से साभार प्रस्तुत इस पोस्ट में लिखे गए शब्दों का मतलब किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाना या उनका मजाक उड़ाना कतई नहीं है। ये बस भोजपुरी शब्दावली के वो शब्द भर हैं जिसके मिठास के बिना भोजपुरी अधुरी है। ये सभी लोग मौजुदा दौर के पत्रकारिता के स्तंभ हैं। ये सभी आदरणीय हैं। इनका हर अंदाज हम युवा पत्रकारों के लिए अनुकरणीय है।

ठेठ भोजपुरिया लहजे को जीने वाले नबीन चंद्रकला कुमार शारजाह में अभियंता हैं
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here